सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

Register transfer in hindi

degree of relationship in dbms in hindi - DBMS in hindi

 आज हम computers in hindi मे  degree of relationship in dbms in hindi - DBMS in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

degree of relationship in dbms in hindi (डिग्री ऑफ रिलेशनशिप):-

इसमे किसी relationship में भाग लेने वाली total entitys की संख्या डिग्री ऑफ रिलेशनशिप (degree of relationship in dbms) कहलाती है और degree of relationship in dbms को हम कई प्रकार से इसे Classified कर सकते है
( 1 ) unary relationship in dbms
( 2 ) unary relationship in dbms
( 3 ) unary relationship in dbms

1. यूनेरी रिलेशनशिप ( Unary Relationship in DBMS in hindi ) :-

इसमे किसी एक ही entity type के Instances के मध्य की relationship को unary relationship in dbms कहते हैं ।
degree of relationship in dbms in hindi

2. बायनरी रिलेशनशिप ( Binary Relationship in DBMS in hindi):-

इसमे किन्हीं दो प्रकार के entity types के Instances के मध्य की relationship की बायनरी रिलेशनशिप ( Binary Relationship in DBMS in hindiकहते हैं और यह डेटा मॉडलिंग में सबसे अधिक उपयोग में आने वाली relationship होती है ।
degree of relationship in dbms in hindi

3. टर्नरी रिलेशनशिप ( Ternary Relationship in DBMS in hindi ) :-

इसमे किन्ही तीन प्रकार के entity types के Instances के मध्य की एक साथ relationship  को टर्नरी रिलेशनशिप ( Ternary Relationship in DBMS in hindi ) कहते हैं और एक टर्नरी रिलेशनशिप तीन बायनरी रिलेशनशिप के बराबर नहीं होती है ।
बायनरी रिलेशनशिप ( Binary Relationship in DBMS in hindi):-

Example  E-R DIAGRAM:-

( 1 ) इसमे फाइनेन्स उधार देने वाली कंपनी के लिए एक E - R डायग्राम :-
कम्पनी ग्राहक और लेखा ( A / C ) के बारे में डेटा संग्रहित करती है और इसमे एक यूनिवर्सल रजिस्टार ऑफिस के लिए E - R डायग्राम और ऑफिस प्रत्येक कक्षा के साथ - साथ इंस्ट्रक्टर , एनरोलमेंट वर्ष और प्रत्येक विद्यार्थी के लिए कक्षाओं का स्थान व समय व ग्रेड , सभास्थान आदि का डेटा व्यवस्थित करते हैं ।

( 2 ) एक अस्पताल के मरीजों के सेट के साथ मेडिकल डॉक्टरों के सेट के लिए E R डायग्राम :-
प्रत्येक मरीज के लिए संचालित परीक्षणों का सेट मरीज के साथ जुड़ा होना चाहिए । अभी तक हमने मूलभूत E - R विचारधारा को पढ़ा । लेकिन हम कुछ गुणों के बारे मे जानेगे ।
( 1 ) विशिष्टीकरण ( स्पेशलाईजेशन ) 
( 2 ) सामान्यीकरण ( जनरलाईजेशन ) 
( 3 ) औसतीकरण ( एग्रीगेशन )

(1) Specialization or subtype:-

यह किसी high level entity के lower level entity sets में devises की process है और यह process इसलिये आवश्यक है क्योंकि एक entity set में ऐसी entitys का समावेश होता है और इनके Property आपस में same नहीं होते हैं। 

(2) In generalization or supertype:-

इस process में दो या उससे अधिक lower - level entitys को एक high levelentitys set के यूनियन के रूप में define हैं और high level entitys set के Attribute को Lower level entity sets से भी Inherit किया जाता है ।

(3) Normalization or Aggregation:-

 E - R मॉडल की एक limit यह है कि यह relationship के बीच relationship को Displayed नहीं कर सकता है और इसी के लिये हम Aggregation का उपयोग करते हैं । इसमे Aggregation एक Abstraction की process है और जिसमें relationship sets को एक Higher - Level Entity के रूप में Displayed करते हैं । इसमे इस प्रकार relationship sets व उससे Related entity sets को हम एक Higher - Level Entity के रूप में देखते हैं और यह उसी तरह का व्यवहार करती है , जिस तरह से दूसरी entity करती है ।








टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

foxpro data type in hindi । फॉक्सप्रो

 आज हम computers in hindi मे फॉक्सप्रो क्या है?  Foxpro data type in hindi  कार्य के बारे मे जानेगे? How many data types are available in foxpro?    में  तो चलिए शुरु करते हैं-    How many data types are available in foxpro? ( फॉक्सप्रो में कितने डेटा प्रकार उपलब्ध हैं?):- FoxPro में बनाई गई डेटाबेस फाईल का एक्सटेन्शन नाम .dbf होता है । foxpro data type in hindi (फॉक्सप्रो डेटा प्रकार) :- Character data type Numeric data type Float data type Date data type Logical data type Memo data type General data type 1. Character data type :- Character data type  की फील्ड में अधिकतम 254 Character store किये जा सकते हैं । इस टाईप की फील्ड में अक्षर जैसे ( A , B , C , .......Z ) ( a , b , c , ...........z ) तथा इसके साथ ही न्यूमेरिक अंक ( 0-9 ) व Special Character ( + , - , / . x , ? , = ; etc ) आदि भी Store करवाए जा सकते हैं । इस प्रकार की फील्ड का प्रयोग नाम , पता , फोन नम्बर , शहर का नाम , पिता का नाम , माता का नाम आदि संग्रहित करने के लिए किया जाता है । 2. Numeric data type :- Numeric da

Management information system (MIS in hindi)

What is Management Information Systems (MIS) in hindi ? Introduction to management information system (MIS in hindi):-  बिजनेस प्रॉब्लम का समाधान प्राप्त करने के लिए युजर, तकनीक और प्रॉसीजर (procedure) एक साथ मिलकर  कार्य करते हैं। यूूूूजर तकनीक और प्रॉसीजर के सकलन को Information system  कहते हैं।   management information system definition :- जब इनफॉर्मेशन सिस्टम में निहित सभी भाग एक अनुशासन (Discipline) विधि से किसी बिजनेस प्रॉब्लम को हल करते हैं तो इस प्रक्रिया को Management information system ( MIS in hindi ) कहते हैं।   MIS कोई नवीन व्यवस्था नहीं है, कंप्यूटर के आगमन से पूर्व व्यवसाय की गतिविधियों का योजना निर्धारण और नियन्त्रण करने का कार्य इसी प्रकार की MIS विधि से ही सम्पन्न किया जाता था।  कंप्यूटर ने इस MIS व्यवस्था में नवीन आयामों  जैसे, गति (speed), शुद्धता (accuracy) और वृहद मात्रा में डेटा समापन को भी सम्मिलित कर दिया गया है। management, Information और system    को कंप्यूटर की सहायता से मिश्रित व्यावसायिक गतिविधियों को सम्पन्न किया जाता है।  किसी ऑर्गेनाइजेशन की ऑ