Skip to main content

relational model in hindi - DBMS in hindi

 आज हम  computers  in hindi  मे   relational model in hindi-   DBMS in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- relational model in hindi (रिलेशनल मॉडल क्या है?):- इसमे रिलेशनल डेटा मॉडल सबसे पहले E.E.Codd द्वारा 1970 में तथा बाद में IBM के San Jose Reserch Laboratosy जो कि R सिस्टम के development के लिए Responsible है इसके द्वारा 1970 के दौरान ही Presented किया गया और दूसरी बार कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय बार्कले जो इन्ग्रेस अकादमिक ओरिएन्टेड RDMS के development के लिए Responsible है इसके द्वारा Presented किया गया । 1980 के आसपास कई producers द्वारा Professional  रिलेशनल डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (RDBMS)   producers को प्रारंभ किया गया और आजकल RDBMS's डेटाबेस मैनेजमेंट के लिए उच्च स्तर की Technique रखते है और अब Personal computers (  personal computer kya hai )और mainframe की limits में कई सारे  रिलेशनल डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (RDBMS )  इसमे आते हैं । इसमे रिलेशनल डेटा मॉडल में डेटा को tables के रूप में Displayed करते हैं । रिलेशनल मॉडल Mathema

foxpro commands in hindi

आज हम foxpro commands क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?  foxpro all commands in hindi में  तो चलिए शुरु करते हैं-  

foxpro commands in hindi:-

 (1) Clear command in foxpro in hindi:- 

इस command का प्रयोग foxpro की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है । 

(2) Modify Structure in foxpro in hindi :- 

इस command का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त डेटाबेस फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है । 

(3) Rename in foxpro in hindi :- 

इस command के द्वारा किसी database file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।  
Syntax : Rename < Old filename > to < New filename > 
Foxpro example: - Rename Student.dbf to St.dbf

(4) Copy file in foxpro in hindi :-

इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉर्ड्स को किसी अन्य डेटाबेस फाईल में Copy किया जा सकता है । 
Foxpro Example : - Copy file Student.dbf to School.dbf

(5) find and seek command in foxpro in hindi:-

यह कमाण्ड रिकॉर्ड्स को ढूँढ़ने का कार्य करती है यह indexed फाईलों में Index Key के आधार पर रिकॉर्ड्स को ढूँढ़ती है ।

(6) Edit in foxpro in hindi :-

इस कमाण्ड का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त डेटाबेस फाईल में किसी रिकॉर्ड में Editing करने अर्थात् उसमें परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके साथ For का उपयोग भी किया जा सकता है ।

(7) Raplace in foxpro in hindi :-

इस कमाण्ड के द्वारा डेटाबेस के रिकॉर्ड्स में आवश्यक परिवर्तन किये जा सकते हैं । यह कमाण्ड एक से अधिक रिकॉर्ड्स की एक ही फील्ड पर कार्य करता है जैसे कि सभी की Fees 200 रुपये से बढ़ा देना या पुष्कर शहर की जगह अजमेर शहर लिखना आदि। 
Foxpro Example : - Replace all fees with fees + 200 
Foxpro Example : - Replace City with " Ajmer " For City = " Pushkar "

(8) Use in foxpro in hindi:-

इस कमाण्ड के द्वारा पूर्व में बनाई गई डेटाबेस फाईल को मैमोरी open किया जा सकता है ।
Foxpro Example : - Use Student 
 यदि Student फाईल Foxpro के डिफाल्ट पाथ पर है तो उसे उपरोक्त कमाण्ड के द्वारा मैमोरी में ओपन किया जा सकता है । मान लीजिए यदि फाईल किसी अन्य पाथ ( d : \ naman \ school \ student.dbf ) पर है तो इसके लिए निम्नलिखित कमाण्ड लिखा जाएगा 
Use " d : \ naman \ School \ Student.dbf "

(9) Delete file in foxpro in hindi :- 

इस कमाण्ड के द्वारा foxpro में डेटाबेस फाईल , Report फाईल आदि को delete किया जा सकता है । फाइल डिलीट करने से पूर्व उसे बन्द करना आवश्यक होता है । 
Foxpro Example : - delete file student.dbf

(10) copy structure in foxpro in hindi: -

इस कमाण्ड के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल को कॉपी किया जा सकता है । स्ट्रक्चर एक नई डेटाबेस फाईल में कॉपी हो जायेगा । केवल स्ट्रक्चर ही कॉपी होगा उसके रिकॉर्ड्स कॉपी नहीं होंगे । अतः नई डेटाबेस फाईल खाली रहेगी । 
Foxpro Example : - Copy Structure Student.dbf to New.dbf .

Comments

Popular posts from this blog

कंप्यूटर की पीढियां । generation of computer in hindi language

generation of computer in hindi  :- generation of computer in hindi language ( कम्प्युटर की पीढियाँ):- कम्प्यूटर तकनीकी विकास के द्वारा जो कम्प्यूटर के कार्यशैली तथा क्षमताओं में विकास हुआ इसके फलस्वरूप कम्प्यूटर विभिन्न पीढीयों तथा विभिन्न प्रकार की कम्प्यूटर की क्षमताओं के निर्माण का आविष्कार हुआ । कार्य क्षमता के इस विकास को सन् 1964 में कम्प्यूटर जनरेशन (computer generation) कहा जाने लगा । इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर के विकास को सन् 1946 से अब तक पाँच पीढ़ियों में वर्गीकृत किया जा सकता है । प्रत्येक नई पीढ़ी की शुरुआत कम्प्यूटर में प्रयुक्त नये प्रोसेसर , परिपथ और अन्य पुर्षों के आधार पर निर्धारित की जा सकती है । ● First Generation of computer in hindi  (कम्प्युटर की प्रथम पीढ़ी) : Vacuum Tubes ( वैक्यूम ट्यूब्स) ( 1946 - 1958 ):- प्रथम इलेक्ट्रॉनिक ' कम्प्यूटर 1946 में अस्तित्व में आया था तथा उसका नाम इलैक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इन्टीग्रेटर एन्ड कैलकुलेटर ( ENIAC ) था । इसका आविष्कार जे . पी . ईकर्ट ( J . P . Eckert ) तथा जे . डब्ल्यू . मोश्ले ( J . W .

पर्सनल कंप्यूटर | personal computer

पर्सनल कंप्यूटर क्या है? ( Personal Computer kya hai ?) :- personal computer definition :- ये Personal computer  क्या है शायद हम सभी लोगों यह  पता होगा क्यूंकि इसे हम अपने घरों में, offices में, दुकानों में देखते हैं  Personal computer (PC) किसी भी उपयोगकर्ता के उपयोग के लिए बनाये गए किसी भी छोटे और सस्ते कंप्यूटर का निर्माण किया गया । सभी कम्प्युटर Microprocessors के विकास पर आधारित हैं। Personal computer  का उदाहरण माइक्रो कंप्यूटर,  डेस्कटॉप कंप्यूटर, लैपटॉप कंप्यूटर, टैबलेट हैं। पर्सनल कंप्यूटर के प्रकार ( personal computer types ):- ● डेस्कटॉप कंप्यूटर (Desktop) ● नोटबुक (Notebook) ● टेबलेट (tablet) ● स्मार्टफोन (Smartphone) कम्प्युटर का इतिहास ( personal computer history) :- कम्प्यूटर के विकास   (personal computer evolution)  के आरम्भ में जो भी कम्प्यूटर विकसित किया जाता था , उसकी अपनी एक अलग ही संरचना होती थी । तथा अपना एक अलग ही नाम होता था । जैसे - UNIVAC , ENIAC , MARK - 1 आदि । सन् 1970 में जब INTEL CORP ने दुनिया का पहला माइक्रोप्रोसेसर (

कम्प्युटर कीबोर्ड क्या है और कीबोर्ड के प्रकार

कम्प्युटर कीबोर्ड क्या है ( keyboard in hindi ) की - बोर्ड लगभग टाइपराइटर के सामान ही होता है , फर्क सिर्फ इतना है कि टाइपराइटर में लगे बटनों की अपेक्षा की - बोर्ड के बटन आसानी से दबते हैं जिससे लम्बे समय तक कार्य करने में सुविधा रहती है । की - बोर्ड के बटनों में एक खास बात यह भी होती है कि किसी बटन को कुछ देर तक दबाए रखा जाये तो  वह स्वयं को repeats होता है ।  की - बोर्ड एक केबल के द्वारा कम्प्यूटर से जुड़ा होता है जिसका एक सिरा की - बोर्ड तथा दूसरा सिरा CPU के पीछे लगे एक सॉकेट में लगाया जाता है । टाइपराइटर की तुलना में की - बोर्ड में कई अधिक Keys होती हैं , जिनसे अनेक प्रकार के काम किये जाते है। की -  बोर्ड के सबसे ऊपर right side ओर तीन रोशनी देने वाली light लगी होती हैं । ये Caps Lock , Num Lock तथा Scroll Lock key की स्थिति दर्शाते रहते हैं । की - बोर्ड ( कुंजीपटल ) user के निर्देशों / आदेशों अथवा डाटा / सूचना को कम्प्यूटर में input कराने का महत्वपूर्ण माध्यम है तथा सर्वाधिक प्रचलित है इसके द्वारा सूचना / डाटा सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को भेजा जाता है । Caps Lock / Num