सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

What is Magnetic Tape in hindi

window accessories kya hai

 आज हम computer in hindi मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है) - Ms-windows tutorial in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है) :-

Microsoft Windows कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं । 

structure of window accessories:-

Start → Program Accessories पर click

Types of accessories in hindi:-

( 1 ) Entertainment :-

 Windows Accessories के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते हैं । Accessories में Entertainment पर mouse के pointer को ले जाने पर उसके option  दिखाई देते हैं।

Media Player:-

इस ऑप्शन से कोई भी Multiimedia Sound तथा Video File को चलाया जा सकता है । किसी भी sound या media file को चलाने के लिए File Menu के open कमाण्ड का इस्तेमाल करते हैं । 

Volume Control :-

CDPlayera Media Player प्रोग्रामों में आवाज नियन्त्रित करने के लिए scroll होता है । आवाज को नियन्त्रित करने के लिए volume प्रोग्राम का प्रयोग किया जाता है । 

Sound Recorder:-

Windows के sound recorder program और microphone के प्रयोग से user श्रव्य फाइल रिकार्ड कर सकते हैं । इस फाइल का Extension Name .wav होता है । यह दो फाइलों की आवाज को mix भी कर सकता है ।

( 2 ) कैलकुलेटर ( Calculator ) :-

गणितीय गणनाएँ करने के लिए calculator का प्रयोग किया जाता है । Windows Operating System में गणनाओं के लिए calculator की सुविधा प्राप्त करने के लिए process अपनाते हैं 
Start → Program → Accessories → Calculator पर click करते हैं तो calculator display करता है।
calculator साधारण गणनाओं के काम आने वाला standard calculator है । यदि scientific एवं statistical गणनाएँ करनी हों तो view menu click कर Scientific पर click करने से Scientific a Statistical गणनाओं के लिए एक अन्य calculator प्रदर्शित होता है ।

 ( 3 ) गेम्स ( Games ):-

 यदि हम कम्प्यूटर पर गेम खेलना चाहते हैं तो गेम कम्प्यूटर की Accessories में से प्राप्त कर सकते हैं । Accessories Group पर जाकर Games नामक mouse से click कर Game का चयन कर सकते हैं तथा गेम खेलने का आनन्द उठा सकते हैं । इस Group में कई प्रकार के games उपलब्ध होते हैं । computer में इनके अलावा अन्य games भी हम install कर सकते हैं । Games को नियन्त्रित करने के लिए Control Panel → Games → Control Properties का इस्तेमाल करना चाहिए । 
Start → Programs → Accessories → Games पर click करने पर कुछ games दिखाई देते हैं , जैसे- Free Cell , Hearts , Minesweeper , Solitaire आदि । 

( 4 ) सिस्टम टूल्स ( System Tools ):-

Accessories के System Tools Group में कम्प्यूटर प्रणाली की महत्त्वपूर्ण सूचनाएँ व प्रमुख प्रोग्राम्स संग्रहित रहते हैं । इनका प्रयोग कर हम system की महत्त्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं । प्रमुख प्रोग्राम्स निम्न हैं 
● Disk Clean Up 
● Disk Fragmentation 
● Scan Disk 
● System Information 
● Maintenance Wizard 
● Welcome to Wizard 
उपरोक्त सभी option के लिए इसका menu  प्रदर्शित होता है :-

Scan Disk:-

 Hard Disk में उपस्थित logical a physical errors की जाँच करने के लिए इस प्रोग्राम का उपयोग किया जाता है । Scan Disk डिस्क के उन स्थानों की मरम्मत भी करता है जहाँ कुछ खराबी है । इस प्रोग्राम को Accessories के system tool के द्वारा निम्न प्रकार चलाया जाता है 
Start → Programs → Accessories → System Tools → Scan Disk 

Disk Clean-up:-

 इस tool program की सहायता से windows में उपस्थित .bak व .tmp वाली फाइलों को डिस्क से हटाया जाता है । इन फाइलों को computer की किसी भी डिस्क से हटाने पर हमें कोई नुकसान नहीं होता क्योंकि ये फाइलें प्रोग्रामों के चलने के समय अपने आप बनती रहती हैं तथा इन्हें Scan Disk option से हटा देने पर हमारे कम्प्यूटर में और अधिक स्थान उपलब्ध हो जाता है ।

System Information:-

इस system tool की सहायता से कम्प्यूटर के hardware , memory व उसकी गति आदि की जानकारी हासिल होती है जो एक फाइल में जमा रहती है । इस फाइल का extension .iof होता है । इसी option के द्वारा हमें यह भी मालूम पड़ता है कि हमारे processor की गति कितने Mhz या Ghz है । 

Device Convertor ( FAT 32 ):-

इस option के प्रयोग से हम Hard Disk ( File Allocation Table 16 ) को FAT 32 के format में change कर सकते हैं । यहाँ यह ध्यान रखना चाहिए कि एक बार FAT 32 Bit Format में disk format होने के बाद Hard Disk के format को FAT 16 में बदलना आसान नहीं होता है । FAT - 32 Bit Format में Hard Disk के partition ज्यादा बन्द आकार के किये जा सकते हैं जबकि FAT - 16 में ऐसा करना सम्भव नहीं है । 

( 5 ) Accessibility :-

Windows के Control Panel से या Accessories option से Accessibility option को Run करने पर यह प्राप्त होता है । Accessibility properties से निम्न कार्यों में सहायता मिलती है 
Sticky Keys का प्रयोग Control + Alt + Shift के मिश्रण के लिए किया जाता है । Use stickykey पर चैक मार्क लगाने से एक समय में एक से अधिक कुँजियों को बिना दबाये रखे हुए Hold Down काम में लाया जा सकता है ।
 Icon , Text , Scroll Bar और Mouse Pointer का आकार बढ़ाने के लिए भी इस को काम में लिया जा सकता है । 

( 6 ) Notepad :-

Accessories के Notepad द्वारा Text फाइल को बनाया व सम्पादित किया जा सकता है । इन फाइलों पर formatting की जरूरत नहीं होती तथा इनका आकार भी अत्यन्त छोटा ही होता है । Notepad Text को save a open केवल ASCII ( Text only ) में करता है । यदि हमें ऐसी फाइलें बनानी हो जिनके लिए formatting की आवश्यकता हो तथा आकार 64K से अधिक हो , तो Wordpad का use किया जाता है । Notepad को चलाने के लिए Start → Program → Accessories → Notepad पर mouse click किया जाता है परिणामस्वरूप Notepad की screen पर प्रदर्शित होती है।
Notepad की प्रारम्भिक स्क्रीन आती है । यहाँ हम Window में Text को Type करते हैं । ऊपर Title Bar पर Application व File का नाम प्रदर्शित होता है । Title Bar में left side में control box तथा right side में minimize , maximize व close buttons होते हैं । इस bar के नीचे menu bar स्थापित होती है जिसमें विभिन्न menu उपलब्ध होते हैं 
File : Open , Save , Save as , Page Setup , Print , Exit . 
Edit : Undo , Cut , Copy , Paste , Delete , Select All , Time / Date , Word Wrap , Set Fonts 
● Search : Find , Find Next 
Help : Help Topics About Notepad 

( 7 ) Imaging :-

Accessories में Image बनाने की भी सुविधा प्राप्त होती है । इसे प्राप्त करने के लिए Accessories में Image Option पर mouse के click करने पर यह Word Pad की भाँति एक Application की तरह  प्राप्त होती है।
उपरोक्त Imaging Application में अनेक कार्यों को सम्पन्न किया जा सकता है । इसमें कई प्रकार के Tools भी उपलब्ध होते हैं तथा Menu Bar भी अनेक कार्यों के लिए उपलब्ध होता है । ये Menu निम्न प्रकार हैं 
( a ) File : New , Open , Save , Save As , Properties , Print , Color Management , Send , Exit .
( b ) Edit : Undo , Redo , Cut , Copy , Paste , Clear , Delete , Drag Selection , Image , Select Autorotation 
( c ) View : Scale to gray One Page , Thumbnails , Full Screen , Tool Bars . 
( d ) Page : Previous , Next , First , Last , Go to , Break , Print Page , Rotate Page , Rotate All Pages , Insert , Append , Properties .
( e ) Zoom : Zoom in , Zoom out , Zoom to section , Fit to height , Fit to width , Best fit , Actual size , 25 % , 50 % , 75 % , 100 % , 200 % , 400 % , custom . 
( f ) Tools : General Options , Scan options , Thumbnail size . 
( g )Anaotation : Make Annotations Permane.it , Select Annotation , Free hand line , highlighter , Straight line , Hollow rectangle , Filled rectangle , Typed Text , Attached Note , Text from File , Rubber Stamps 
 scanner , digital camera , clip art , CD a Internet की अनगिनत तस्वीरों को काम में ले सकते हैं जिन्हें हम अपने documents में लगा सकते हैं तथा उनका print out भी ले सकते हैं एवं साथ ही उन तस्वीरों पर कोई परिवर्तन भी हम आवश्यकतानुसार कर सकते हैं । 

( 8 ) Paint Brush:-

 इस कार्यक्रम का प्रयोग हम किसी picture का निर्माण करने , देखने व उसे सम्पादित करने के लिए कर सकते हैं । इन pictures को हम किसी अन्य document में भी लगा सकते हैं तथा उस document में पिक्चर को एक background के रूप में भी set कर सकते हैं । 
Paint Brush की सहायता से ना किसी फोटो को scanner द्वारा स्कैन करके भी Edit व Format कर सकते हैं । Paint Brush को Run करने के लिए प्रक्रिया अपनाते हैं
 Start → Program → Accessories → Paint पर click करने से Paint की screen प्राप्त होती है ।
Paint Brush की windov में नीचे का ओर एक color pallette होती है तथा नायें side पर एक Tool Bar होती है व ऊपर Menu Bar होता है । इस Menu Bar में Menu होते हैं 
( a ) File : New , Open , Save , Save As , Print Preview , Page Setup , Print , Send , Set as Wall Paper , Exit . 
( b ) Edit : Undo , Repeat , Cut , Copy , Paste , Clear , Delete , Selection , Select All , Copy to ... , Paste from .
( c ) View : Tool Box , Color Box , Status Bar . 
( d ) Image : Flip / Rotate , Stretch , Invert colour , Attributes , Clear image , Draw opaque 
( e ) Colors : Edit colors ... 
( f ) Help : Help Topics , About Paint 
 Menu Bar के Menus के अलावा दो विशेष Tool Bar व एक Status Bar भी हैं । - 
( 1 ) Drawing Area 
( 2 ) Menu Bar 
( 3 ) Color Box 
( 4 ) Status Bar 
( 5 ) Tool Box .

tool box in paint Brush:-

 1 Free From Select : चित्र के किसी भी हिस्से के चयन करने हेतु ।
2 . Select : चित्र में आयताकार हिस्से का चयन करने हेतु । 
3. Eraser : चित्र को मिटाने हेतु । 
4. Fill with color : चित्रों में विभिन्न रंग भरने हेतु । 
5. Pick colour : चित्र में किसी color को चुनने हेतु । 
6. Magnifier : बने हुए चित्र को बड़ा करके देखने हेतु । 
7. Pencil : चित्र बनाने में पेन्सिल का उपयोग करने हेतु । 
8 . Brush : चित्र में Brush करने हेतु । 
9 . Air Brush : चित्र में हवादार Brush करने हेतु । 
10. Text : चित्र में Text लिखने हेतु । 
11. Line : सीधी रेखा बनाने हेतु । 
12. Curve : वक्रीय रेखा बनाने हेतु । 
13. Rectangle: आयताकार आकृति बनाने हेतु । 
14. Polygon : Polygon आकृति बनाने हेतु । 
15. Ellipse : अण्डाकार आकृति निर्मित करने हेतु । 
16. Rounded Rectangle : गोल आयताकार आकृति बनाने हेतु ।

( 9 ) Communications :-

यह option भी Accessories के other items के साथ उपलब्ध होता है । इसको execute करने के लिए  प्रक्रिया अपनाकर Active करना पड़ता है-
● Dial - up Networking 
● Direct Cable Connection 
● Hyper Terminal 
● ISDN Configuration Wizard 
● Phone Dialer 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल