सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

unix commands in hindi

array in c in hindi

आज हम C language tutorial in hindi मे हम Array in c language in hindi के बारे में जानकारी देते क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

array in c in hindi :-

एक समान डाटा आइटम का एक समूह जिसका एक ही नाम हो , Array ( ऐरे ) कहलाता है । 
ऐरे एक वेरियेबल के समान constants की मेमोरी में स्थिति का नाम होता है जहाँ एक समान टाइप के constants store होते हैं । 
ऐसा ऐरे जिसमें एक ही सबस्क्रिप्ट का प्रयोग होता है एकविमीय ( One - dimensional ) ऐरे कहलाता है । जबकि ऐसा ऐरे जिसमें दो सबस्क्रिप्ट का प्रयोग किया जाता है द्विविमीय ऐरे ( Two - dimensional Array ) कहलाता है । 

• एकविमीय ऐरे ( One - dimensional Arrays):-

 ऐसा ऐरे जिसमें ऐरे एलीमेन्ट की संख्या को define करने के लिये एक Subscript का प्रयोग किया जाये , एकविमीय ऐरे ( One - dimensional Array ) कहलाता है । 
C प्रोग्राम में ऐरे को वेरियेबल के समान उपयोग करने से pre-Declare करना आवश्यक होता है । इसे Declare करने के लिये इसका टाइप और Element की संख्या Subscript से define की जाती है । Subscript को बड़े कोष्ठक में लिखते हैं । 
Syntax:-
<type> <array name> <element key>
<type> :- ऐरे में किये जाने वाले constants का टाइप है जो int , float , double अथवा char टाइप का हो सकता है । 
<array name> :- A से Z अथवा a से z तक के करेक्टर 0-9 तक अंक और अंडरस्कोर Underscore ) से बना ऐरे का नाम है ।
 <element key> :- सबस्क्रिप्ट है जो ऐरे का आकार है और इसमें store constants की संख्या को define करता है ।
Example:- int marks [ 30 ] ;

( 1 ) Accessing Elements of Array :-

ऐरे Declare करने के बाद इसके प्रत्येक एलीमेन्ट को प्राप्त किया जा सकता है । इसके लिए सबस्क्रिप्ट [ ] का प्रयोग किया जाता है । ऐरे नेम के सभी Elements ) को एक निश्चित संख्या दी . जाती है जो 0 से प्रारम्भ होती है । 

( 2 ) Inputting Data into Array :- 

Note - char ऐरे के प्रत्येक एलीमेन्ट में हम कोई स्ट्रिंग store नहीं कर सकते हैं क्योंकि प्रत्येक ऐरे एलीमेन्ट मेमोरी में एक बाईट को define करता है और एक करेक्टर एक बाईट आकार का होता है ।

( 3 ) Assigning Constants Into Array:-

 ऐरे एलीमेन्ट में हम कोई मान ( स्थिरांक ) एसाइन कर सकते हैं । ऐरे एलीमेन्टों में कोई मान ( स्थिरांक ) हम दो स्थानों पर कर सकते हैं । ऐरे Declare करते समय और ऐरे Declare करने के बाद ।

• Two - dimensional Array:-

जिसमें Values की सूची store की जा सके । कभी - कभी हमें कोई सारणों के मानों को मेमोरी में संग्रहीत करना पड़ता है ।

(1) While assigning a constant to a two-dimensional array:-

द्वि - विमीय ऐरे की Declaration के समय format से कोई Constant ऐसाइन किया जाता है ।
< type > < array name > [ total number of rows ] [ total number of columns ]
 = { constants -1 , constants -2 , constants 3 , ... }

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ