सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

unix commands in hindi

java operators in hindi

 आज हम computers in hindi मे operators in java in hindi - java in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- 

java operators in hindi:-

जावा में प्रयोग किए जाने वाले ऑपरेटरों (types of java operators in hindi):-

1. अंकगणितीय ऑपरेटर ( Arithmetic Operator )
2. रिलेशनल ऑपरेटर ( Relational Operator ) 
3. लॉजिकल ऑपरेटर ( Logical Operator ) 
4. इंक्रीमेंट एवं डिक्रीमेंट ऑपरेटर ( Increment / Decrement Operator ) 
5. बिटवाइज ऑपरेटर ( Bitwise Operator ) 
6. असाइनमेंट ऑपरेटर ( Assignment Operator ) 
7. कॉन्केटीनेशन ऑपरेटर ( Concatenation Operator ) 
8. विशेष ऑपरेटर ( Special Operator )

1. अंकगणितीय ऑपरेटर ( Arithmetic Operator ):-

Arithmetic Operator ऐसे ऑपरेशन जो गणितीय संख्याओं (Mathematical numbers) पर किए जाते है , वो सारे इसी category में आते है ।
bash arithmetic operations

2. रिलेशनल ऑपरेटर ( Relational Operator):-

Relational Operator ऐसे ऑपरेशन जो दो संख्याओं के तुलनात्मक संबंध की जांच करते हों , इस category में आते हैं । रिलेशनल ऑपरेटरों से बने एक्सप्रेशन का रिजल्ट हमेशा लोजिकल ( यूलियन ) वैल्यू . ही होगी । लॉजिकल वैल्यू से आशय true या false से है ।
java operators in hindi

3. लॉजिकल ऑपरेटर ( Logical Operator ) :-

Logical Operator ऐसे ऑपरेटर जो दो लॉजिकल वैल्यू के साथ प्रयोग किए जाते हैं , इस category में आते हैं।
सामान्यतया इन ऑपरेटरों का प्रयोग रिलेशनल ऑपरेटरों के साथ किया जाता है।
java operators in hindi

4. इंक्रीमेंट एवं डिक्रीमेंट ऑपरेटर ( Increment / Decrement Operator ) :-

Increment / Decrement Operator ऐसे ऑपरेटर जो किसी वेरिएबल की वैल्यू को एक से बढ़ाने अथवा घटाने के काम में आते हैं , इस category में आते हैं उपरोक्त ऑपरेटर्स को दो प्रकार से प्रयोग किया जाता है : प्री ( Pre ) एवं पोस्ट ( Post ) | प्री इंक्रीमेंट ऑपरेटर को ऑपरेंड के पहले लगाया जाता है ( जैसे ++ p ) तथा पोस्ट इंक्रीमेंट को ऑपरेंड के बाद ( जैसे p ++ ) |
java operators in hindi

5. बिटवाइज ऑपरेटर ( Bitwise Operator ) :-

जहां अभी तक सारे ऑपरेटर कम से कम एक बाइट पर कार्य करने में सक्षम थे , वहीं बिटवाइज ऑपरेटरों के माध्यम से अलग - अलग बिट पर कार्य किया जा सकता है । बिटवाइज से मतलब ऑपरेंड के बिट पैटर्न से है । किसी भी डेसीमल संख्या का बिट पैटर्न उसे बाइनरी में बदलने से मिलता है ।उदाहरण के लिए डेसीमल संख्या 45 का बिट पैटर्न 101101 होगा , वहीं 158 का बिट पैटर्न 10011110 होगा ।
java operators in hindi

6. असाइनमेंट ऑपरेटर ( Assignment Operator ):-

Assignment Operator ऐसे ऑपरेटर जो किसी वैल्यू को वेरिएबल में स्टोर कराने के काम में आते हैं , वे इस category में आते हैं। शॉर्टहैण्ड ऑपरेटर अंकगणितीय ऑपरेटरों एवं असाइनमेंट ऑपरेटरों का मिश्रण है । 
operator in java in hindi

7. कॉन्केटीनेशन ऑपरेटर ( Concatenation Operator ) :-

इस ऑपरेटर ( + ) का प्रयोग दो या दो से अधिक स्ट्रिंग को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है । यदि कॉन्केटीनेशन ऑपरेटर के साथ एक स्ट्रिंग तथा एक न्यूमेरिक वैल्यू हो तो न्यूमेरिक वैल्यू स्वतः स्ट्रिंग में परिवर्तित हो जाती है ।

8. कंडीशनल ऑपरेटर ( Conditional Operator ):-

 चूंकि कंडीशनल ऑपरेटर ( ? :) इसमें तीन ऑपरेंड काम में आते हैं अतः इसे टरनरी ऑपरेटर के नाम से भी जाना जाता है । यह ऑपरेटर कंडीशन की जांच करने के काम में आता है । 
ऑपरेटर का format इस प्रकार है : 
Logical Expressionl ? Expression2 : Expression3 ; 
यहां पर प्रथम एक्सप्रेशन में लॉजिकल आपरेटरों के माध्यम से कोई कंडीशन दी जा सकती है । यदि दी गई कंडीशन true है तो Expression2 रन होगा अन्यथा Expression3 रन होगा । 

Example java operators in hindi:-

<html> 
     <head> 
     </ head>
    <body> 
         <script type = "text / javascript"> 
              document.write ("10 * 3 =" + (10 * 3) + "<br>"); 
              document.write ("3= =3: + (3 == 3) +" <br> '); 
              document.write ("3 = = \" 3 \ ": + (3==" 3 ")" <br> ");
             document.write ("(1> 5 && 9> 6):" + (1> 5 && 9> 6) +
"<br>");
             document.write (" (1> 5 11 9> 6): "+ (1> 5 11 9> 6)
< br> "); 
            document.write ("45 & 7:" + (45&7) + 
< br> "); 
document.write (" 45 | 23: + (45 । 23) + "
< br> "); 
document.write ("Imperial + "Tutorials"+
"< br> "); 
< / script > 
< / body >
< / html > 
आउटपुट : 
10 * 3 = 30 
3 == 3 : true 
3== " 3 " : true 
( 1 > 5 && 9 > 6 ) : false 
( 1 > 5 || 9>6 ) : true 
45 & 7 : 5
45|23 : 63
Imperial Tutorials










टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ