सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

software requirement in hindi

digital enhanced cordless telecommunications

 आज हम computers in hindi मे digital enhanced cordless telecommunications - computer network in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- 

DECT in hindi:-

DECT एक डिजिटल संचारण स्तर ( digital communication standard ) है । प्रारम्भ में एनालॉग कॉर्डलैस फोन का उपयोग किया जाता था ये कम रेंज में कार्य करते थे तथा इनमें बहुत कम सुरक्षा थी । अधिक रेंज तथा सुरक्षा हेतु यूरोप में सन् 1987 में डिजिटल कॉर्डलैस फोन बनाये गये । कॉर्डलैस फोन में डेटा व ध्वनि के लिए DECT का प्रयोग किया जाता है । प्रारम्भ में इसका विकास यूरोप में हुआ था , तथा कुछ समय पश्चात् यूरोप के समस्त राष्ट्र में सार्वजनिक रूप से किया जाने लगा । कुछ वर्षों के पश्चात् अन्य राष्ट्रों के द्वारा भी इसका प्रयोग किया जाने लगा । 

Full form of DECT:- digital enhanced cordless telecommunications

यह एनालॉग फोन से बेहतर कार्य करते हैं । एनालॉग कॉर्डलैस फोन केवल सीमित सुरक्षा प्रदान करते हैं तथा इनमें एनक्रिप्शन तकनीक का प्रयोग नहीं किया जाता था , जबकि डिजिटल एनहैन्स्ड कॉर्डलैस में अधिक सुरक्षा उपलब्ध होती हैं , क्योंकि इनमें ट्रांस्मिशन के लिए एनक्रिप्शन तकनीक का प्रयोग किया जाता है ।

What is DECT 6.0 :-

DECT 6.0 एक शक्तिशाली विकास था , परन्तु यह different फ्रीक्वेंसी का प्रयोग करता था इस कारण यह अन्य क्षेत्रों में अन्य उपकरणों के साथ ठीक प्रकार से कार्य नहीं कर सकता था । इस कमी का दूर करने के पश्चात् इसका form universal हो गया अर्थात् सम्पूर्ण विश्व में इसका प्रयोग किया जाने लगा । प्रारम्भ में इसका प्रयोग कार्यालयों में किया जाता था , परन्तु बाद में इसका इस्तेमाल घरों में भी होने लगा । यह कई प्रकार की सुविधाएं देता है , जैसे कि वॉइस एप्लीकेशन , डेटा एप्लीकेशन , रिमोट कन्ट्रोल एप्लीकेशन व औद्योगिक एप्लीकेशन आदि । वर्तमान मे DECT का प्रयोग किसी विशेष प्रकार के अनुप्रयोगों में तथा रिमोट कन्ट्रोल आदि को बनाने में किया जाता है । DECT ULE ( ultra low energy ) 1.9GHz बैण्ड पर कार्य करने में सक्षम है । इसे सुरक्षा अनुप्रयोग , घरेलू स्वचलित अनुप्रयोग व ऊर्जा संचालन अनुप्रयोग आदि में प्रयोग करने के लिए बनाया गया है ।
digital enhanced cordless telecommunications

यह एक flexible रेडियो एक्सेस स्टैण्डर्ड है । इसका प्रयोग कॉर्डलैस  communication में किया जाता है । इस प्रकार के फोन बाहरी अर्थात् खुले क्षेत्र में लगभग 100 मीटर तक की दूरी / सीमा ( range ) में किसी हस्तक्षेप के बजाय कार्य करते हैं । परन्तु कार्यालय या भवन में दीवारों की वजह से ये कम दूरी / सीमा ( range ) तक ही सीमित रह जाते हैं । इसका प्रयोग प्रायः डेटा नेटवर्क में अधिक किया जाता है । इसका ध्वनि कोड G 726 है तथा इसको बिट रेट 32Kbit प्रति सैकण्ड होती है । इसकी डेटा गति लगभग 500 Kbit प्रति सैकण्ड होती है । इस तकनीक में लगभग 1800-1930 MHz फ्रीक्वेंसी का प्रयोग विभिन्न रेंज में किया जाता है ।
DECT 6.0 स्पैक्ट्रम बैण्ड का विशेष रूप से उल्लेख नहीं करता है , यह ब्लूटुथ तथा WiFi से भी कम इन्टरफेस पर कार्य करता है । DECT का उपयोग ऑफिस , ट्रेड शोज ( Trade shows ) आदि में किया जाता है । इसका उपयोग वायरलेस लैन को implement करने में भी किया जाता है । इसकी चैनल की डेटा रेट 32 kbps तक होती है । DECT OSI Reference model का अनुसरण करता है । यह Physical layer . data link layer तथा Network layer पर कार्य करता है।
  • Physical Layer का कार्य मॉड्यूलेशन / डिमाड्यूलेशन , synchronization आदि होता है तथा इसमें Time Division Duplex ( TDD ) applied होता है । 
  • Data Link Control Layer का मुख्य कार्य मोबाइल टर्मिनल तथा बेस स्टेशन के मध्य एक विश्वसनीय कनैक्शन प्रदान करना होता है । 
  • नेटवर्क लेयर सभी कंट्रोल प्लेन ( C - Plane ) को परिभाषित करती हैं । यह लेयर fixed station और Mobile station के रिसोर्स के लिए निवेदन करना , उन पर नियंत्रण करना तथा रिसोर्सेस को release करना आदि सेवाएँ ( Services ) प्रदान करती है ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

foxpro data type in hindi । फॉक्सप्रो

 आज हम computers in hindi मे फॉक्सप्रो क्या है?  Foxpro data type in hindi  कार्य के बारे मे जानेगे? How many data types are available in foxpro?    में  तो चलिए शुरु करते हैं-    How many data types are available in foxpro? ( फॉक्सप्रो में कितने डेटा प्रकार उपलब्ध हैं?):- FoxPro में बनाई गई डेटाबेस फाईल का एक्सटेन्शन नाम .dbf होता है । foxpro data type in hindi (फॉक्सप्रो डेटा प्रकार) :- Character data type Numeric data type Float data type Date data type Logical data type Memo data type General data type 1. Character data type :- Character data type  की फील्ड में अधिकतम 254 Character store किये जा सकते हैं । इस टाईप की फील्ड में अक्षर जैसे ( A , B , C , .......Z ) ( a , b , c , ...........z ) तथा इसके साथ ही न्यूमेरिक अंक ( 0-9 ) व Special Character ( + , - , / . x , ? , = ; etc ) आदि भी Store करवाए जा सकते हैं । इस प्रकार की फील्ड का प्रयोग नाम , पता , फोन नम्बर , शहर का नाम , पिता का नाम , माता का नाम आदि संग्रहित करने के लिए किया जाता है । 2. Numeric data type :- Numeric da

Management information system (MIS in hindi)

What is Management Information Systems (MIS) in hindi ? Introduction to management information system (MIS in hindi):-  बिजनेस प्रॉब्लम का समाधान प्राप्त करने के लिए युजर, तकनीक और प्रॉसीजर (procedure) एक साथ मिलकर  कार्य करते हैं। यूूूूजर तकनीक और प्रॉसीजर के सकलन को Information system  कहते हैं।   management information system definition :- जब इनफॉर्मेशन सिस्टम में निहित सभी भाग एक अनुशासन (Discipline) विधि से किसी बिजनेस प्रॉब्लम को हल करते हैं तो इस प्रक्रिया को Management information system ( MIS in hindi ) कहते हैं।   MIS कोई नवीन व्यवस्था नहीं है, कंप्यूटर के आगमन से पूर्व व्यवसाय की गतिविधियों का योजना निर्धारण और नियन्त्रण करने का कार्य इसी प्रकार की MIS विधि से ही सम्पन्न किया जाता था।  कंप्यूटर ने इस MIS व्यवस्था में नवीन आयामों  जैसे, गति (speed), शुद्धता (accuracy) और वृहद मात्रा में डेटा समापन को भी सम्मिलित कर दिया गया है। management, Information और system    को कंप्यूटर की सहायता से मिश्रित व्यावसायिक गतिविधियों को सम्पन्न किया जाता है।  किसी ऑर्गेनाइजेशन की ऑ