सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

computer question in hindi

What is Algorithm in Hindi?

आज हम C language tutorial in hindi मे हम What is Algorithm in Hindi? (एल्गोरिथ्म क्या है) के बारे में जानकारी देते क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

What is Algorithm in Hindi? (एल्गोरिथ्म क्या है) :-

Instructions का वह समूह जिसके द्वारा Problem का solution होगा , एल्गोरिथ्म ( Algorithm ) कहलाता है । जिस प्रकार किसी सीढ़ी के ऊपरी कसर पर पहुँचने के लिये हमें सीढ़ी के प्रत्येक कर्सर को एक - एक करके पार करना होता है , उसी प्रकार कम्प्यूटर को भी समस्या के समाधान तक पहुँचने के लिये एक - एक पद ( Step ) दिया जाता है । एल्गोरिथ्म ( Algorithm ) किसी समस्या के समाधान के लिए लॉजिक है।

Method of Algorithm in Hindi:-

1. Flow chart in hindi
2. Pseudocode in hindi

 1.फ्लो चार्ट या प्रवाह चित्र ( Flow chart in hindi) :-

किसी समस्या के समाधान के Steps का चित्र के रूप में प्रदर्शन फ्लो चार्ट ( Flow Chart ) कहलाता है । प्रोग्राम की विभिन्न क्रियाओं के प्रवाह को फ्लो चार्ट ( Flow Chart ) express करता है । फ्लो चार्ट ( Flow Chart ) में विभिन्न क्रियाओं ( Actions ) के लिये Sign होते हैं । इन Symbols को तीर के चिन्हों वाली Flow Lines की सहायता से जोड़ते हैं जिससे क्रियाओं की दिशा का पता चलता है । फ्लो चार्ट के मुख्य चिन्ह निम्न प्रकार हैं -

(A) इनपुट / आउटपुट चिन्ह ( Input / Output Symbol ) :-

यह समान्तर चतुर्भुज की आकृति का चिन्ह होता है । यह चिन्ह इनपुट या - आउटपुट क्रिया को व्यक्त करता है । 
जैसे और READ और WRITE या INPUT PRINT ।
इनपुट क्रिया ( Input Operation ) का अर्थ कम्प्यूटर में डाटा इनपुट करना है जबकि आउटपुट क्रिया ( Output Operation ) का अर्थ है स्क्रीन या अन्य किसी आउटपुट डिवाइस पर आउटपुट का छपना । इसमें कितनी भी लाइनें Enter हो सकती हैं किन्तु एक ही लाइन प्राप्त होती है ।

(B) टर्मिनल ( Terminal ) :-

यह अण्डाकार ( Oval ) चिन्ह होता है जो फ्लो चार्ट ( Flow Chart ) का प्रारम्भ और अन्त करने के लिये प्रयुक्त होता है ।
 इस चिन्ह में START शब्द लिखकर फ्लो चार्ट प्रारम्भ करते हैं और STOP शब्द लिखकर फ्लो चार्ट समाप्त करते हैं सभी फ्लो चार्टों में START और STOP टर्मिनल चिन्ह होना आवश्यक है । इसमें एक ही लाइन बाहर निकलती है और कितनी भी लाइनें Enter हो सकती हैं । 

(C) प्रक्रिया चिन्ह ( Processing Symbol ) :-

यह आयताकार चिन्ह होता है । इसमें डाटा पर प्रक्रिया ( Processing ) करने वाले निर्देश या सूत्र लिखते हैं । इसमें कितनी भी लाइनें Enter हो सकती हैं . किन्तु बाहर एक ही लाइन प्राप्त होती है ।
Check this link use full information - vietsn 

(D) फ्लो लाइन ( Flow Line ):-

ये तीर के चिन्ह वाली रेखाएँ होती हैं जो फ्लो चार्ट के सभी चिन्हों को परस्पर जोड़ती हैं और प्रक्रिया के प्रवाह की दिशा को बताती हैं ।  

(E) Decision Symbol :-

यह चिन्ह Logical Operation को व्यक्त करता है । इसके दो मुख्य भाग होते हैं :
( a ) शर्त या प्रश्न जो इस चिन्ह में लिखा जाता है ।
( b ) शर्त या प्रश्न का परिणाम व्यक्त करने की दो स्थितियाँ YES और NO . 
इस चिन्ह में एक फ्लो लाइन आकर मिलती है जबकि दो फ्लो लाइनें क्रमश : YES और NO के लिये बाहर निकलती हैं । Decision Symbol में हम Condition देते हैं जिन्हें हम तार्किक क्रियाएँ ( Logical Operations ) कहते हैं । तार्किक क्रियाओं को लिखने के लिये निम्नलिखित ऑपरेटर्स का उपयोग किया जाता है : -
= बराबर 
> से बड़ा है ( Greater than ) 
< से छोटा है ( Less than )
>= से बड़ा या बराबर है ( Greater than or Equal to)
<= से छोटा या बराबर है ( Less than or Equal to )
<> या ! = बराबर नहीं ( Not Equal to )

(F) कनेक्टर ( Connector ):-

 फ्लो चार्ट यदि कागज पर एक पृष्ठ से बड़ा हो जाता है तो उसे अगले पृष्ठ पर Continue करने के लिये कनेक्टर प्रयुक्त किये जाते हैं । ये वृत्ताकार चिन्ह होते हैं । 

(G) Annotation Symbol :-

 यदि प्रोग्रामर किसी क्रिया ( Operation ) के बारे में टिप्पणी लिखना चाहता है । जिससे प्रोग्राम की प्रक्रिया पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा तो इसके लिये टिप्पणी चिन्ह ( Annotation Symbol ) का उपयोग करके उसके दायीं ओर क्रिया से सम्बन्धित टिप्पणी लिख सकता है ।

2. स्यूडोकोड ( Pseudocode in hindi):-

किसी समस्या के समाधान के Steps को प्रोग्रामर अपनी भाषा  में Pointwise लिखता है , इसे स्यूडोकोड ( Pseudocode ) कहते हैं अर्थात् प्रोग्राम्स के लॉजिक का अपनी स्वयं की भाषा में Pointwise पदों का समूह स्यूडोकोड ( Pseudocode ) कहलाता है । स्यूडोकोड प्रोग्रामिंग के समय कोडिंग में एक फ्रेमवर्क प्रदान करता है जिससे कोडिंग में सरलता रहती है ।

(A) Input या Accept  या Read:-

उदाहरण :- Input Salary 
                Read Name 
                Accept Name

(B) Print या Display या Write:-

उदाहरण:- Print Commission
               Display Average
              Write Name 
Pseudocode को Start से प्रारम्भ व End से समाप्त करते हैं ।

टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ