सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

jvm (java virtual machine) in hindi

आज हम computer course in hindi मे हम jvm (java virtual machine) in hindi  के बारे में यहाँ बताएगें तो चलिए शुरु करते हैं-

jvm (java virtual machine) in hindi:-

jvm (java virtual machine) ,Java एक ऑब्जेक्ट - ओरियेन्टेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका निर्माण 1995 ई . में Sun Microsystem द्वारा विकसित की गई । जावा वर्चुअल मशीन ( Java Virtual Machine ) एक Class loader , एक Class - Verifier और एक Java Interpreter का बना होता है जो Architecture - Neutral Byte Codes को execute करता है । ये Architecture - Neutral Byte Codes और Java कम्पाइलर Java प्रोग्राम के प्रत्येक क्लास के लिए produce किए जाते हैं । यह Java के प्रत्येक ऑब्जेक्ट class कन्सट्रक्ट द्वारा Specified किए जाते हैं , कोई भी जावा- प्रोग्राम एक या एक से अधिक क्लास का बना होता है । यह Java कम्पाइलर द्वारा produce किया गया Bytecode , Class फाइल में स्टोर होता है और Loader , class फाइलों को Java API से Java Interpreter द्वारा execute करने के लिए लोड करता है और जब कोई क्लास लोड हो जाता है तो Class Verifier यह जांच करता है कि क्लास फाइल वैलिड जावा - बाइटकोड है या नहीं । इसके साथ ही Class Verifier यह भी जांच करता है कि लोड किया गया क्लास स्टैक में Overflow या underflow कर रहा है अथवा नहीं । Class Loader यह भी सुनिश्चित करता है कि Bytecode प्वॉइन्टर अर्थमेटिक ऑपरेशन करता है अथवा नहीं । यदि Class File , वैलिड जावा - बाइटकोड होता है तो यह स्टैक में अन्डरफ्लो या ओवरफ्लो नहीं करता है और यदि स्टैक प्वॉइन्टर अर्थमेटिक ऑपरेशन नहीं करता है तो बाइटकोड Java - Machine / Java - Interpreter द्वारा इन किया जाता है । JVM ( Java virtual machine ) स्वत ही Garbage Collection मेथड द्वारा memory management का कार्य करता है ।
- Java Interpreter एक सॉफ्टवेयर मॉड्यूल भी हो सकता है जो Bytecodes को Interpret करता है या फिर Just - in - Time ( JIT ) कम्पाइलर हो सकता है । JIT , Bytecodes को  real time में executable code में कम्पाइल करता है । JVM Architecture Neutral और Portable प्रोग्राम के डेवलपमेंट को सम्भव बनाता है । Java में डेवलप किए गए प्रोग्राम किसी भी प्रोसेसर पर और किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में execute किये जा सकते हैं । Java की Virtual Machine Design सुविधाजनक व सुरक्षित , ऑब्जेक्ट ऑरियेन्टेड , पॉर्टेबल और आर्किटेक्चर - न्यूट्रल प्लेटफॉर्म प्रदान करती है जिस पर Java के प्रोग्राम्स रन करते हैं ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Recovery technique in dbms । रिकवरी। recovery in hindi

 आज हम Recovery facilities in DBMS (रिकवरी)   के बारे मे जानेगे रिकवरी क्या होता है? और ये रिकवरी कितने प्रकार की होती है? तो चलिए शुरु करतेे हैं- Recovery in hindi( रिकवरी) :- यदि किसी सिस्टम का Data Base क्रैश हो जाये तो उस Data को पुनः उसी रूप में वापस लाने अर्थात् उसे restore करने को ही रिकवरी कहा जाता है ।  recovery technique(रिकवरी तकनीक):- यदि Data Base पुनः पुरानी स्थिति में ना आए तो आखिर में जिस स्थिति में भी आए उसे उसी स्थिति में restore किया जाता है । अतः रिकवरी का प्रयोग Data Base को पुनः पूर्व की स्थिति में लाने के लिये किया जाता है ताकि Data Base की सामान्य कार्यविधि बनी रहे ।  डेटा की रिकवरी करने के लिये यह आवश्यक है कि DBA के द्वारा समूह समय पर नया Data आने पर तुरन्त उसका Backup लेना चाहिए , तथा अपने Backup को समय - समय पर update करते रहना चाहिए । यह बैकअप DBA ( database administrator ) के द्वारा लगातार लिया जाना चाहिए तथा Data Base क्रैश होने पर इसे क्रमानुसार पुनः रिस्टोर कर देना चाहिए Types of recovery (  रिकवरी के प्रकार ):- 1. Log Based Recovery 2. Shadow pag

Query Optimization in hindi - computers in hindi 

 आज  हम  computers  in hindi  मे query optimization in dbms ( क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन) के बारे में जानेगे क्या होता है और क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन (query optimization in dbms) मे query processing in dbms और query optimization in dbms in hindi और  Measures of Query Cost    के बारे मे जानेगे  तो चलिए शुरु करते हैं-  Query Optimization in dbms (क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन):- Optimization से मतलब है क्वैरी की cost को न्यूनतम करने से है । किसी क्वैरी की cost कई factors पर निर्भर करती है । query optimization के लिए optimizer का प्रयोग किया जाता है । क्वैरी ऑप्टीमाइज़र को क्वैरी के प्रत्येक operation की cos जानना जरूरी होता है । क्वैरी की cost को ज्ञात करना कठिन है । क्वैरी की cost कई parameters जैसे कि ऑपरेशन के लिए उपलब्ध memory , disk size आदि पर निर्भर करती है । query optimization के अन्दर क्वैरी की cost का मूल्यांकन ( evaluate ) करने का वह प्रभावी तरीका चुना जाता है जिसकी cost सबसे कम हो । अतः query optimization एक ऐसी प्रक्रिया है , जिसमें क्वैरी अर्थात् प्रश्न को हल करने का सबसे उपयुक्त तरीका चुना