सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

What is Magnetic Tape in hindi

Brute force attack in hindi

Brute-force attack in hindi:-

Brute force attack में attacker ciphertext के एक टुकड़े पर हर possible key की कोशिश करता है जब तक कि plain text में एक sensible translation प्राप्त न हो जाए। success प्राप्त करने के लिए average सभी possible keys में से आधी कोशिश की जानी चाहिए।
यदि किसी भी प्रकार का attack key को निकालने में सफल होता है, तो impact destructive होता है: उस key के साथ encrypt किए गए सभी future और पिछले massages से compromise किया जाता है।

Types of attack:-

1. Ciphertext Only
2. Known Plaintext
3. Chosen Plaintext
4. Chosen Ciphertext
5. Chosen Text
सिफरटेक्स्ट-ओनली अटैक से बचाव करना सबसे आसान है क्योंकि Opposition (विपक्ष) के पास काम करने के लिए कम से कम जानकारी है। कई case में, analyst के पास अधिक जानकारी होती है। analyst एक या अधिक plain text messages के साथ-साथ उनके एन्क्रिप्शन को भी कैप्चर करने में capable हो सकता है। या analyst यह जान सकता है कि संदेश में निश्चित plain text pattern दिखाई देगा। उदाहरण Postscript format में एन्कोड की गई फ़ाइल हमेशा एक ही पैटर्न से शुरू होती है, या इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर message के लिए एक standardized header या बैनर हो सकता है, और इसी तरह। ये सभी ज्ञात प्लेनटेक्स्ट के उदाहरण हैं। इस analyst उस key को निकालने में capable हो सकता है जिस तरह से convert plain text होता है।
Known-plain text attack से निकटता से संबंधित है जिसे possible-word attack के रूप में reference किया जा सकता है। यदि rival कुछ सामान्य prose message के एन्क्रिप्शन के साथ काम कर रहा है, तो उसे message में क्या है, इसके बारे में बहुत कम जानकारी हो सकती है। हालांकि, अगर rival कुछ बहुत specific information के बाद है, तो message के कुछ हिस्सों जाना जा सकता है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

window accessories kya hai

  आज हम  computer in hindi  मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)   -   Ms-windows tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)  :- Microsoft Windows  कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं ।  structure of window accessories:- Start → Program Accessories पर click Types of accessories in hindi:- ( 1 ) Entertainment :-   Windows Accessories  के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते है

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल