सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

What is Magnetic Tape in hindi

Types of security mechanisms

Types of Security Mechanisms:-

security services एक specific protocal layer में applicable होते हैं, जैसे टीसीपी या एक एप्लिकेशन-लेयर प्रोटोकॉल, और जो किसी specific protocal layer या security service के लिए specific नहीं हैं। reversible encoding system और immutable encoding system के बीच अंतर करता है। एक reversible encryption mechanism केवल एक एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म है जो डेटा को एन्क्रिप्ट और बाद में डिक्रिप्ट करने की permission देता है। immutable encryption system में हैश एल्गो-रिथम और message authentication code शामिल हैं, जो digital signature और message authentication applications में उपयोग किए जाते हैं।

1. Specific Security Mechanisms:-

OSI security services में से कुछ प्रदान करने के लिए उपयुक्त protocol layer में शामिल किया जा सकता है।

Encipherment:-

डेटा को ऐसे रूप में बदलने के लिए mathematical algorithms का उपयोग जो  कि आसानी से समझ में नहीं आता है।  डेटा का change और बाद में recovery एक एल्गोरिथम है। शून्य या अधिक encryption keys पर निर्भर करता है।

Digital Signature:-

data unit के साथ जोड़ा गया डेटा, या एक cryptographic change, जो data unit के reciver user को data के source और integrity को proof करने की अनुमति देता है।

Access Control:-

resources तक पहुंच के लिए applicable(लागू) करने वाले different systems।

Data Integrity :-

Data unit की stream की integrity को assure करने के लिए विभिन्न प्रकार के system का उपयोग किया जाता है।

Authentication Exchange:-

Information के आदान-प्रदान के माध्यम से एक unit की पहचान assure करने के purpose से एक system।

Traffic Padding:-

traffic analysis efforts को fail करने के लिए डेटा स्ट्रीम में interval में बिट्स का insertion करना।

Routing Control :-

कुछ डेटा के लिए विशेष रूप से physical appearance से safe routes के selection को capable करता है और routing changes की permission देता है।

Notarization:-

data exchange के कुछ qualities को sure करने के लिए एक trusted third party का उपयोग करना है।

2. Pervasive Security Mechanisms:-

System जो किसी specific OSI security Service या protocol layer के लिए specific नहीं हैं।

Trusted Functionality:-

जिसे कुछ criteria के relation में सही माना जाता है (जैसे कि security policy द्वारा Established किया गया है)।

Event Detection:-

security-relevant events का पता लगाना।

Security Recovery:-

event management और management functions जैसे systems के requests से handling करना, और recovery operation करता है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

window accessories kya hai

  आज हम  computer in hindi  मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)   -   Ms-windows tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)  :- Microsoft Windows  कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं ।  structure of window accessories:- Start → Program Accessories पर click Types of accessories in hindi:- ( 1 ) Entertainment :-   Windows Accessories  के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते है

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल