सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

Visible Surface detection in hindi

Line Clipping

 Line Clipping :-

हम लाइन क्लिपिंग एल्गोरिदम पर बात करते हैं जो ज्यादातर सीधी रेखाओं या लाइन सेगमेंट को क्लिप करने के लिए उपयोग किया जाता है। प्रमुख लाइन क्लिपिंग एल्गोरिदम हैं-
i. Cohen-Sutherland Algorithm
ii. Liang-Barsky Algorithm
iii. Nicholl-Lee Nicholl Algorithm
iv. Mid-Point Subdivision Algorithm
Line Clipping


लाइनों और क्लिपिंग विंडो के बीच कई potential relationship हैं। एक लाइन क्लिपिंग विधि में कई भाग शामिल होती हैं।
एक line खींचते समय, यदि रेखा का एक endpoint screen के बाहर है, और दूसरा अंदर, तो आपको रेखा को क्लिप करना होगा ताकि स्क्रीन के अंदर का केवल वह भाग ही रह जाए। यहां तक ​​कि अगर दोनों एंडपॉइंट स्क्रीन के बाहर हैं, तब भी यह संभव है कि लाइन का एक हिस्सा दिखाई दे। क्लिपिंग एल्गोरिथम को उन rows के नए end point खोजने की आवश्यकता होती है जो स्क्रीन के अंदर या किनारों पर हैं। यहाँ कुछ case दिए गए हैं, जहाँ Black rectangle screen का representation करता है, लाल रंग में पुराने end point हैं, और नीले रंग में क्लिपिंग के बाद:
Case-A: दोनों एंडपॉइंट स्क्रीन के अंदर हैं, क्लिपिंग की जरूरत नहीं है। 
Case-B: स्क्रीन के बाहर एक एंडपॉइंट, जिसे क्लिप किया जाना था। 
Case-C: दोनों एंडपॉइंट स्क्रीन के बाहर हैं, और लाइन का कोई हिस्सा दिखाई नहीं दे रहा है, इसे बिल्कुल भी न बनाएं। 
Case-D: दोनों एंडपॉइंट्स स्क्रीन के बाहर हैं, और लाइन का हिस्सा दिखाई दे रहा है, दोनों एंडपॉइंट्स को क्लिप करें और इसे ड्रा करें।
कई अलग-अलग case हैं, प्रत्येक endpoint screen के अंदर, उसके बाईं ओर, उसके दाईं ओर, ऊपर, नीचे, आदि हो सकता है। Cohen Sutherland Clipping Algorithm इन case को काफी कुशलता से पहचान सकता है और क्लिपिंग कर सकता है।
Cohen Sutherland Clipping Algorithm

(i) Cohen-Sutherland Line Clipping Algorithm:-

यह ज्यादातर सबसे लोकप्रिय और सबसे पुरानी लाइन क्लिपिंग एल्गोरिदम का उपयोग किया जाता है। यह preliminary test की concepts का उपयोग करता है जो क्लिपिंग की प्रक्रिया को गति देता है। Algorithm Space (Window) area को नौ  areas में विभाजित करता है। center field screen (window) है, और अन्य आठ area windows के बाहर अलग-अलग तरफ हैं। प्रत्येक Line के end point को चार अंकों का बाइनरी कोड दिया जाता है, जिसे area code कहा जाता है। 
  • यदि area screen के ऊपर है, तो पहला बिट 1 है।
  • यदि area screen के नीचे है, तो दूसरा बिट 1 है।
  • यदि area screen के दाईं ओर है, तो तीसरा बिट 1 है।
  • यदि area screen के बाईं ओर है, तो चौथा बिट 1 है।

एक area एक ही समय में बाईं और दाईं ओर नहीं हो सकता है, या एक ही समय में इसके ऊपर और नीचे हो सकता है, इसलिए तीसरा और चौथा बिट एक साथ नहीं हो सकता है, और पहला और दूसरा बिट 'हो सकता है' मैं साथ नहीं रहूंगा। स्क्रीन में ही सभी 4 बिट्स 0 पर सेट हैं।
Cohen-Sutherland Line Clipping Algorithm

(ii) Liang-Barsky Algorithm:-

यह लाइन क्लिपिंग एल्गोरिदम वर्ष 1984 में पेश किया गया था जो साइरस और बेक के काम का विस्तार है। यह कोहेन सदरलैंड एल्गोरिथम की तुलना में तेज़ एल्गोरिथम है। यह एल्गोरिथ्म एक रेखा के पैरामीट्रिक रूप पर base है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

window accessories kya hai

  आज हम  computer in hindi  मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)   -   Ms-windows tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)  :- Microsoft Windows  कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं ।  structure of window accessories:- Start → Program Accessories पर click Types of accessories in hindi:- ( 1 ) Entertainment :-   Windows Accessories  के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते है

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ