सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

software requirement in hindi

ansi sparc architecture of dbms - DBMS in hindi

आज हम computers in hindi मे ansi sparc architecture of dbms - DBMS in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

ansi sparc architecture of dbms:-

ansi sparc architecture (American National Standard Institute / Standard Planning and Requirements Committee)  के डीबीएमएस के तीन लेबल के आर्किटेक्चर का उपयोग Physical database व user के एप्लीकेशन को अलग - अलग करने के लिये किया जाता है । प्रत्येक लेबल के view को दर्शाने के लिये एक स्कीम का उपयोग करते हैं और स्कीम एक प्लान होता है जो रेकार्ड व view की समस्त रिलेशनशील को परिभाषित करता है । इस आर्किटेक्चर के निम्नलिखित तीन व्यू होते हैं : 
( 1 ) एक्सटरनल लेबल  (External Label )
( 2 ) कान्सेप्च्युअल लेबल ( Conceptual Label)
( 3 ) इनटरनल  लेबल ( Internal Label)
ansi sparc architecture of dbms


( 1 ) एक्सटरनल लेबल  (External Label ):-

यह डेटाबेस का सबसे ज्यादा Abstract label होता है जहाँ पर कि डेटाबेस का वह भाग ही दिखाता है जो कि किसी यूजर को या एप्लिकेशन प्रोग्राम को चाहिये होता है । किसी भी एक ग्लोबल ( Compual ) लेबल के बहुत से यूजर व्यूज हो सकते हैं व साथ ही एक से अधिक एक समान view भी इसमें हो सकते हैं । इसमें वह स्कीम ( या स्किमा या व्यू ) जिसके द्वारा External view को परिभाषित किया जाता है और उसे External schema कहते है । इस schema में Logical records की परिभाषा , External view में रिलेशनशिप व ऐसी Methods जिसके द्वारा आब्जेक्ट को Compual view से External view में ले जाया जाता है । इसमे किसी आब्जेक्ट मेंNTT, Attributes व Relationships इत्यादि शामिल होते है ।

( 2 ) कान्सेप्च्युअल लेबल या ग्लोबल व्यू (Conceptual Label):-

डेटाबेस Abstraction का यह ग्लोबल व्यू समस्त डेटाबेस को Displayed करता है और वह schema जोकि ग्लोबल व्यू को परिभाषित करती है , इसे Compual schemaकहते हैं । जिसमें सभी डेटाबेस एन्टिटीस् , उन सभी के बीच की relationship व ऐसी Methods जिसके द्वारा object को External view से Compual view पर लाया जा सके और प्रत्येक डेटाबेस में सिर्फ एक ही Compual view होता है।
इस लेवल पर डेटा के format की जानकारी उसके physical format से पूरी तरह से भिन्न होती है और साथ ही इसमें ऐसे गुण भी होते हैं , जो डेटा के Durability व uniformity को बनाये रखने के लिये arrangement करता है ।

( 3 ) इनटरनल  लेबल ( Internal Label):-

यह डेटाबेस का सबसे कम Abstracted level होता है जो यह बताता है कि डेटा किसी तरह से storage होगा , और डेटाबेस के द्वारा किस तरह का Data structure  व access method उपयोग की जायेगी । अतः यह Level physical storage method के बहुत ही नजदीक है । जिस schama का उपयोग इस लेवल को defined करने के लिये किया जाता है और उसे Internal schema कहते है । इस स्किमा में Stored Records की परिभाषा , डेटा फाइल को show की विधि व Accessing record को पढ़ने के लिये मदद इत्यादि शामिल होती है ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

foxpro data type in hindi । फॉक्सप्रो

 आज हम computers in hindi मे फॉक्सप्रो क्या है?  Foxpro data type in hindi  कार्य के बारे मे जानेगे? How many data types are available in foxpro?    में  तो चलिए शुरु करते हैं-    How many data types are available in foxpro? ( फॉक्सप्रो में कितने डेटा प्रकार उपलब्ध हैं?):- FoxPro में बनाई गई डेटाबेस फाईल का एक्सटेन्शन नाम .dbf होता है । foxpro data type in hindi (फॉक्सप्रो डेटा प्रकार) :- Character data type Numeric data type Float data type Date data type Logical data type Memo data type General data type 1. Character data type :- Character data type  की फील्ड में अधिकतम 254 Character store किये जा सकते हैं । इस टाईप की फील्ड में अक्षर जैसे ( A , B , C , .......Z ) ( a , b , c , ...........z ) तथा इसके साथ ही न्यूमेरिक अंक ( 0-9 ) व Special Character ( + , - , / . x , ? , = ; etc ) आदि भी Store करवाए जा सकते हैं । इस प्रकार की फील्ड का प्रयोग नाम , पता , फोन नम्बर , शहर का नाम , पिता का नाम , माता का नाम आदि संग्रहित करने के लिए किया जाता है । 2. Numeric data type :- Numeric da

Management information system (MIS in hindi)

What is Management Information Systems (MIS) in hindi ? Introduction to management information system (MIS in hindi):-  बिजनेस प्रॉब्लम का समाधान प्राप्त करने के लिए युजर, तकनीक और प्रॉसीजर (procedure) एक साथ मिलकर  कार्य करते हैं। यूूूूजर तकनीक और प्रॉसीजर के सकलन को Information system  कहते हैं।   management information system definition :- जब इनफॉर्मेशन सिस्टम में निहित सभी भाग एक अनुशासन (Discipline) विधि से किसी बिजनेस प्रॉब्लम को हल करते हैं तो इस प्रक्रिया को Management information system ( MIS in hindi ) कहते हैं।   MIS कोई नवीन व्यवस्था नहीं है, कंप्यूटर के आगमन से पूर्व व्यवसाय की गतिविधियों का योजना निर्धारण और नियन्त्रण करने का कार्य इसी प्रकार की MIS विधि से ही सम्पन्न किया जाता था।  कंप्यूटर ने इस MIS व्यवस्था में नवीन आयामों  जैसे, गति (speed), शुद्धता (accuracy) और वृहद मात्रा में डेटा समापन को भी सम्मिलित कर दिया गया है। management, Information और system    को कंप्यूटर की सहायता से मिश्रित व्यावसायिक गतिविधियों को सम्पन्न किया जाता है।  किसी ऑर्गेनाइजेशन की ऑ