सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Media convergence in hindi

 आज हम computers in hindi मे media convergence in hindi  or electronic media in hindi - e commerce in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- 

 Electronic and Media Convergence in hindi:-

convergence से मतलब किसी भी प्रकार की सूचना का किसी अन्य रूप में convergence करना होता है । convergence को लागू करने के लिए टेलीविज़न , पब्लिशिंग , टेलीकम्यूनिकेशन व कम्प्यूटर का प्रयोग करके एक नई सूचना पर आधारित ई कॉमर्स तैयार की जा सकती है। ई - कॉमर्स में convergence को लागू करने के लिए अर्थात् सूचना का form बदलने के लिए कई सूचनाओं को एक साथ जोड़ा जाता है । उन सूचनाओं को अलग से ना display कर उनके साथ दूसरी कई सचूनाओं को जोड़कर इसे तैयार किया जाता है । 

Types of convergence in hindi:-

1. मल्टीमीडिया ( Multimedia )

2. क्रॉस मीडिया ( Cross Media )

1. मल्टीमीडिया ( Multimedia in hindi ):-

इस प्रकार की मीडिया convergence में ई - कॉमर्स के टैक्स्ट , ग्राफिक , डेटा , इमेज , वीडियो , एनीमेशन आदि को डिजिटल रूप में परिवर्तित किया जाता है । 

media convergence in hindi

2. क्रॉस मीडिया ( Cross Media ) :-

इस प्रकार की मीडिया convergence के अन्तर्गत एक मीडिया को दूसरी मीडिया में परिवर्तित किया जाता है । यह एक प्रकार का रूपान्तरण कहलाता है । इसके द्वारा मीडिया के साथ कई प्रकार के कार्यों को किया जा सकता है । जैसे कि इन्टरनेट के माध्यम से ई - कॉमर्स एप्लीकेशन पर कार्य करना , किसी विज्ञापन आदि को देखना।

convergence से मतलब मीडिया के विभिन्न अवयवों को डिजिटल रूप में convergence करना होता है । यह बहुत ही प्रचलित है क्योंकि व्यक्ति घर बैठे ही कम्प्यूटर के माध्यम से अपनी आवश्यकता की वस्तुएँ खरीद सकता है । इसके लिए उसे कहीं और जाने की आवश्यकता नहीं होगी । 

types of convergence in hindi:-

1. content of Convergence in hindi:-

इसके अन्तर्गत हम सभी प्रकार की सूचनाएँ जैसे - व्यवसाय , डॉक्यूमेन्ट , वीडियो , मूवी तथा म्यूजिक को डिजिटल रूप में परिवर्तित करते हैं । जब यह सूचना हमारे पास डिजिटल रूप में होती हैं तो इस सूचना को हम आसनी से ढूँढ सकते हैं तथा किसी भी अन्य एप्लीकेशन में बदल सकते हैं ।

2.transmission of Convergence in hindi:-

 इसके अन्तर्गत ई - कॉमर्स की एप्लीकेशन मीडिया convergence कई तरह के Transmission का उपयोग करते हैं जिसमें हम व्यवसायिक दस्तावेज , ऑडियो , वीडियो को डिजिटल रूप में बदल सकते हैं । यह डिजिटल सूचनाएँ कई तरह के ट्रांसमिशन उपयोग में लेकर सूचनाओं को अन्य उपभोक्ताओं को भेजती है । यह ट्रांसमिशन फोन या अन्य केबल वायर के द्वारा भी कार्य कर सकती है । जिसमें हम कई तरह की Switching Information तथा कई तरह के Protocol उपयोग में ले सकते हैं । ई - कॉमर्स में मीडिया convergence फोन लाईन , केबल वायर के द्वारा भी किया जा सकता है । जिसके द्वारा हम कई तरह के ध्वनि डेटा , इमेजेस तथा वीडियो को अन्य सर्वर पर बिना किसी रूकावट के भेज सकते हैं ।

3. information access devices  of Convergence in hindi:-

इसके अन्तर्गत कई तरह की सूचनाएँ होती हैं जो business objectives के अनुसार उपयोग में ली जाती है । इस तरह की सूचना को कई यन्त्रों द्वारा प्राप्त किया जा सकता है । जैसे - मॉडम , वीडियो मॉनिटर इत्यादि में यंत्र किसी भी तरह की सूचनाओं को क्लाइंट से सर्वर तक व सर्वर से क्लाइंट तक परिवर्तित करने के काम आती है । 

ई - कॉमर्स में सूचनाओं का convergence इन सभी यन्त्रों के द्वारा किया जा सकता है । इन यन्त्रों के द्वारा सभी सूचनाओं का डिजिटल रूप में अभिसरण किया जा सकता है जिससे सभी सूचनाएं users तक आसानी से पहुंच सकें ।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Query Optimization in hindi - computers in hindi 

 आज  हम  computers  in hindi  मे query optimization in dbms ( क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन) के बारे में जानेगे क्या होता है और क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन (query optimization in dbms) मे query processing in dbms और query optimization in dbms in hindi और  Measures of Query Cost    के बारे मे जानेगे  तो चलिए शुरु करते हैं-  Query Optimization in dbms (क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन):- Optimization से मतलब है क्वैरी की cost को न्यूनतम करने से है । किसी क्वैरी की cost कई factors पर निर्भर करती है । query optimization के लिए optimizer का प्रयोग किया जाता है । क्वैरी ऑप्टीमाइज़र को क्वैरी के प्रत्येक operation की cos जानना जरूरी होता है । क्वैरी की cost को ज्ञात करना कठिन है । क्वैरी की cost कई parameters जैसे कि ऑपरेशन के लिए उपलब्ध memory , disk size आदि पर निर्भर करती है । query optimization के अन्दर क्वैरी की cost का मूल्यांकन ( evaluate ) करने का वह प्रभावी तरीका चुना जाता है जिसकी cost सबसे कम हो । अतः query optimization एक ऐसी प्रक्रिया है , जिसमें क्वैरी अर्थात् प्रश्न को हल करने का सबसे उपयुक्त तरीका चुना

Recovery technique in dbms । रिकवरी। recovery in hindi

 आज हम Recovery facilities in DBMS (रिकवरी)   के बारे मे जानेगे रिकवरी क्या होता है? और ये रिकवरी कितने प्रकार की होती है? तो चलिए शुरु करतेे हैं- Recovery in hindi( रिकवरी) :- यदि किसी सिस्टम का Data Base क्रैश हो जाये तो उस Data को पुनः उसी रूप में वापस लाने अर्थात् उसे restore करने को ही रिकवरी कहा जाता है ।  recovery technique(रिकवरी तकनीक):- यदि Data Base पुनः पुरानी स्थिति में ना आए तो आखिर में जिस स्थिति में भी आए उसे उसी स्थिति में restore किया जाता है । अतः रिकवरी का प्रयोग Data Base को पुनः पूर्व की स्थिति में लाने के लिये किया जाता है ताकि Data Base की सामान्य कार्यविधि बनी रहे ।  डेटा की रिकवरी करने के लिये यह आवश्यक है कि DBA के द्वारा समूह समय पर नया Data आने पर तुरन्त उसका Backup लेना चाहिए , तथा अपने Backup को समय - समय पर update करते रहना चाहिए । यह बैकअप DBA ( database administrator ) के द्वारा लगातार लिया जाना चाहिए तथा Data Base क्रैश होने पर इसे क्रमानुसार पुनः रिस्टोर कर देना चाहिए Types of recovery (  रिकवरी के प्रकार ):- 1. Log Based Recovery 2. Shadow pag