सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Components of database in hindi - dbms in hindi

 आज हम computers in hindi मे  components of database in hindi और Element of database - DBMS in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

डाटाबेस के तत्व ( Elements of Database in hindi) :-

किसी भी डाटाबेस के तीन Element होते हैं 

( i ) फील्ड ( Field ) : - 

यह डाटाबेस का सबसे छोटा Element होता है जो किसी सूचना के एक fixed types को Expressed करता है । 

( ii ) रिकॉर्ड ( Record ) : - 

अनेक Fields का Collection एक रिकॉर्ड होता है । 

( iii ) फाइल ( File ) : - 

अनेक records का Collectionएक डाटाबेस फाइल होती है ।

components of database in hindi (डाटाबेस सिस्टम के भाग ):- 

Types of database system:- 

( i ) इनपुट डाटा ( Input Data ) : - 

वह डाटा जिसको last user द्वारा system में डाला जाता है । 

( ii ) आउटपुट डाटा ( Output ) : - 

वह डाटा जो Executed होने के बाद result प्राप्त होता है । 

( iii ) ऑपरेशनल डाटा ( Operational Data ) :-

डाटा का वह भाग जिस पर user कुछ Activities करता है । 

( iv ) हार्डवेयर ( Hardware ) : - 

वह कम्प्यूटर सिस्टम जिसके अंदर किसी डाटाबेस सिस्टम को डाला जाता है । इसके रैम व Secondary memory का special ध्यान रखा जाता है जो उस डाटाबेस सिस्टम को Executed करने के लिये आवश्यक होता है ।  more datail click 

(v) सॉफ्टवेयर ( Software ) : - 

यह एक डाटाबेस सिस्टम का सॉफ्टवेयर होता  है । 

( vi ) यूजर ( user ) : - 

यह डाटाबेस सिस्टम को प्रयोग करने वाले user होते है ।

डाटा का व्यू ( View of Data ) :-

 एक डाटाबेस को use करने वाले काफी user होते हैं , जिसमें प्रत्येक को डाटाबेस का Different रूप देखने व उस पर कार्य करने की आवश्यकता होती है । एक रूप किसी डाटाबेस का उपसमूह हो सकता है अथवा किसी डाटाबेस फाइल से लिया गया वर्चुअल डाटा ( Virtual Data ) भी हो सकता है । एक DBMS  यूजर Different types की एप्लीकेशन का प्रयोग करते हैं।



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Query Optimization in hindi - computers in hindi 

 आज  हम  computers  in hindi  मे query optimization in dbms ( क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन) के बारे में जानेगे क्या होता है और क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन (query optimization in dbms) मे query processing in dbms और query optimization in dbms in hindi और  Measures of Query Cost    के बारे मे जानेगे  तो चलिए शुरु करते हैं-  Query Optimization in dbms (क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन):- Optimization से मतलब है क्वैरी की cost को न्यूनतम करने से है । किसी क्वैरी की cost कई factors पर निर्भर करती है । query optimization के लिए optimizer का प्रयोग किया जाता है । क्वैरी ऑप्टीमाइज़र को क्वैरी के प्रत्येक operation की cos जानना जरूरी होता है । क्वैरी की cost को ज्ञात करना कठिन है । क्वैरी की cost कई parameters जैसे कि ऑपरेशन के लिए उपलब्ध memory , disk size आदि पर निर्भर करती है । query optimization के अन्दर क्वैरी की cost का मूल्यांकन ( evaluate ) करने का वह प्रभावी तरीका चुना जाता है जिसकी cost सबसे कम हो । अतः query optimization एक ऐसी प्रक्रिया है , जिसमें क्वैरी अर्थात् प्रश्न को हल करने का सबसे उपयुक्त तरीका चुना

Recovery technique in dbms । रिकवरी। recovery in hindi

 आज हम Recovery facilities in DBMS (रिकवरी)   के बारे मे जानेगे रिकवरी क्या होता है? और ये रिकवरी कितने प्रकार की होती है? तो चलिए शुरु करतेे हैं- Recovery in hindi( रिकवरी) :- यदि किसी सिस्टम का Data Base क्रैश हो जाये तो उस Data को पुनः उसी रूप में वापस लाने अर्थात् उसे restore करने को ही रिकवरी कहा जाता है ।  recovery technique(रिकवरी तकनीक):- यदि Data Base पुनः पुरानी स्थिति में ना आए तो आखिर में जिस स्थिति में भी आए उसे उसी स्थिति में restore किया जाता है । अतः रिकवरी का प्रयोग Data Base को पुनः पूर्व की स्थिति में लाने के लिये किया जाता है ताकि Data Base की सामान्य कार्यविधि बनी रहे ।  डेटा की रिकवरी करने के लिये यह आवश्यक है कि DBA के द्वारा समूह समय पर नया Data आने पर तुरन्त उसका Backup लेना चाहिए , तथा अपने Backup को समय - समय पर update करते रहना चाहिए । यह बैकअप DBA ( database administrator ) के द्वारा लगातार लिया जाना चाहिए तथा Data Base क्रैश होने पर इसे क्रमानुसार पुनः रिस्टोर कर देना चाहिए Types of recovery (  रिकवरी के प्रकार ):- 1. Log Based Recovery 2. Shadow pag