सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

computer glossary (कम्प्यूटर शब्दावली) "K"

आज हम computer in hindi मे हम computer glossary in hindi (कम्प्यूटर शब्दावली) के बारे में जानकारी देते क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

Computer glossary in hindi (कम्प्यूटर शब्दावली) "K" :-

• full form in KB ( Kilo Byte ):-

 एक किलोबाइट ( 1024 बाइट प्रति सेकण्ड ) ।

• full form in KCS:-

 Kilo Characters Per Second 

• full form in KES:-

 Knowledge Engineering System 

• full form in KHz:-

 किलो हर्टज का संक्षिप्त रूप

• full form in KSR in hindi :-

की बोर्ड सेंड रिसीवर 

• full form in Kb :-

किलोबाइट

• Kernel:-

निर्देशों का समूह जो आपरेटिंग सिस्टम के अंतर्गत माना जाता है । 

• Kerning :-

अनावश्यक खाली स्थान , जो दो अक्षरों अथवा शब्दों के बीच होता है । 

• full foem in Ket :-

Kharagpur Expert Tool

• Key Entry :-

की - बोर्ड की सहायता से सूचनाओं को कम्प्यूटर में डालना ।

• Key Field :-

एक ऐसा क्षेत्र जो एक Record को दूसरे से separate करता है।

• Key Boarding:-

 किसी प्रोग्राम अथवा सूचना को प्रत्यक्ष रूप से की - बोर्ड की सहायता से कम्प्यूटर में डालने की प्रक्रिया ।

• Kelvin , Willian Thomson ( 1824-1907 ):-

 स्कॉटलैण्ड का गणितज्ञ जिसने वह theory propounded किया जिसके आधार पर 1875 में Differential Analyser की स्थापना की गयी ।

 • Keyboard :-

अक्षरों और अंकों के रूप में डेटा इनपुट करने के लिए कम्प्यूटर में लगा device
-:Computer glossary (कम्प्यूटर शब्दावली):-

• Kilo Cycles Per Second:-

एक हजार चक्कर प्रति मिनट 

• Kilo Band :-

एक हजार बिट प्रति सेकण्ड 

• Keyboard Terminal :-

इसके द्वारा कम्प्यूटर में लगी हार्डडिस्क में सीधे डेटा एण्ट्री करते हैं । 

• Keypad :-

अंकों को इनपुट करने के लिए कम्प्यूटर में लगा छोटा की बोर्ड। 

• Key Punch :-

की बोर्ड द्वारा संचालित उपकरण जिसमें छोटे - छोटे रन्ध्र होते हैं इन्हें पंचकार्ड कहते हैं । कम्प्यूटर इसे एक कार्ड की भांति रीड करता है । 

• Key Stroke :-

की - बोर्ड में लगी कीज को दबाने की प्रक्रिया को Key Stroke कहते हैं । 

• Key Word :-

प्रोग्राम की भाषा में प्रयोग होने वाले प्रारम्भिक तत्त्व , जैसे - बेसिक भाषा में गोटो , इनपुट स्टेटमेंट आदि । 

• Key Stations :-

मुख्य कम्प्यूटर में डेटा इनपुट करने के लिए वह टर्मिनल जो मल्टीयूजर नेटवर्क से जुड़े होते हैं ।

• Key Switch :-

की बोर्ड की कीज । 

• Kill:-

 स्टोर डेटा को कम्प्यूटर में से डिलीट करना । 

• Kilo :-

यह एक इकाई है , इसे K द्वारा प्रदर्शित करते हैं ।

• Kilobyte :-

1024 बाइट्स का समूह 

• Kilobertz :-

एक हजार instruction cycles का एक सेकण्ड में पूरा होना ।

• Kinematics:-

 कम्प्यूटर द्वारा इंजीनियरों के लिए बनाई गई ऐनिमेशन या डिजाइन इसमें मशीन के स्ट्रक्चर को दिखाया जाता है ।

• Klude:-

 ऐसे spare parts को कम्प्यूटर में से हटाना , जो एक दूसरे से मैच न करते हों । 

• Knowbot:-

 इस रोबोट का निर्माण इंटरनेट पर फाइलों को ढूंढ़ने के लिए किया गया है । 
-:Computer glossary (कम्प्यूटर शब्दावली):-

• Knowledge Base:-

किसी विषय के ज्ञान से संबंधित उन रिकार्डों का समूह जो किसी विषय से संबंधित है ।

•Knowledge Manager :-

माइक्रो डाटा बेस सिस्टम द्वारा बनाया गया डी बी एम ( DBM ) सिस्टम जिसकी सहायता से आपरेटर असंख्य फाइलों को खोल सकता है ।

• Knowledge Representation:-

 किसी समस्या का समाधान करने के लिए आवश्यक सूचनाओं को प्रदान करने वाला organisation ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Recovery technique in dbms । रिकवरी। recovery in hindi

 आज हम Recovery facilities in DBMS (रिकवरी)   के बारे मे जानेगे रिकवरी क्या होता है? और ये रिकवरी कितने प्रकार की होती है? तो चलिए शुरु करतेे हैं- Recovery in hindi( रिकवरी) :- यदि किसी सिस्टम का Data Base क्रैश हो जाये तो उस Data को पुनः उसी रूप में वापस लाने अर्थात् उसे restore करने को ही रिकवरी कहा जाता है ।  recovery technique(रिकवरी तकनीक):- यदि Data Base पुनः पुरानी स्थिति में ना आए तो आखिर में जिस स्थिति में भी आए उसे उसी स्थिति में restore किया जाता है । अतः रिकवरी का प्रयोग Data Base को पुनः पूर्व की स्थिति में लाने के लिये किया जाता है ताकि Data Base की सामान्य कार्यविधि बनी रहे ।  डेटा की रिकवरी करने के लिये यह आवश्यक है कि DBA के द्वारा समूह समय पर नया Data आने पर तुरन्त उसका Backup लेना चाहिए , तथा अपने Backup को समय - समय पर update करते रहना चाहिए । यह बैकअप DBA ( database administrator ) के द्वारा लगातार लिया जाना चाहिए तथा Data Base क्रैश होने पर इसे क्रमानुसार पुनः रिस्टोर कर देना चाहिए Types of recovery (  रिकवरी के प्रकार ):- 1. Log Based Recovery 2. Shadow pag

Query Optimization in hindi - computers in hindi 

 आज  हम  computers  in hindi  मे query optimization in dbms ( क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन) के बारे में जानेगे क्या होता है और क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन (query optimization in dbms) मे query processing in dbms और query optimization in dbms in hindi और  Measures of Query Cost    के बारे मे जानेगे  तो चलिए शुरु करते हैं-  Query Optimization in dbms (क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन):- Optimization से मतलब है क्वैरी की cost को न्यूनतम करने से है । किसी क्वैरी की cost कई factors पर निर्भर करती है । query optimization के लिए optimizer का प्रयोग किया जाता है । क्वैरी ऑप्टीमाइज़र को क्वैरी के प्रत्येक operation की cos जानना जरूरी होता है । क्वैरी की cost को ज्ञात करना कठिन है । क्वैरी की cost कई parameters जैसे कि ऑपरेशन के लिए उपलब्ध memory , disk size आदि पर निर्भर करती है । query optimization के अन्दर क्वैरी की cost का मूल्यांकन ( evaluate ) करने का वह प्रभावी तरीका चुना जाता है जिसकी cost सबसे कम हो । अतः query optimization एक ऐसी प्रक्रिया है , जिसमें क्वैरी अर्थात् प्रश्न को हल करने का सबसे उपयुक्त तरीका चुना