सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

Depth Buffer Algorithm

difference between internet and intranet in hindi - इंटरनेट और इंट्रानेट में अंतर

आज हम internet technology in hindi मे हम difference between internet and intranet in hindi के बारे में जानकारी देते क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

internet and intranet in hindi:-

इंटरनेट एक नेटवर्क का नेटवर्क है , जो सम्पूर्ण विश्व को आपस में जोड़ता है । इसी प्रकार intranet किसी कंपनी का internal network है जो कि Internet Measurements का उपयोग करता है । इन्ट्रानेट , इंटरनेट सॉफ्टवेयर व इंटरनेट प्रोटोकॉल का प्रयोग करता है परन्तु यह हमेशा इंटरनेट से स्थाई कलेक्शन नहीं रखता है । इन्ट्रानेट इन्टरनेट की तकनीकी पर निर्भर करता है ।

difference between internet and intranet in hindi:-

( i ) इन्ट्रानेट के माध्यम से किसी लोकल एरिया नेटवर्क को जोड़ा जा सकता है । जबकि इंटरनेट लोकल एरिया नेटवर्क व वाइड एरिया नेटवर्क दोनों को स्थापित कर सकता है । 
( ii ) इन्ट्रानेट , इन्टरनेट मापकों का प्रयोग करता है , परन्तु किसी एक निश्चित जगह या संगठन में जबकि इंटरनेट इन measurers ( प्रोटोकॉल , टूल आदि ) का प्रयोग Worldwide रूप में करता है । 
( iii ) इंट्रानेट मेल सर्वर व सूचनाओं का प्रयोग निजी न्यूजग्रुप बनाने में करता है जब इंटरनेट मेल सर्वर व सूचनाओं की सहायता से नहीं बनाया जा सकता ।
( iv ) हम किसी इंटरनेट साइट को बिना इंट्रानेट साइट के बना सकते हैं जबकि इंट्रानेट साइट को बिना इंटरनेट साइट की सहायता के नहीं बनाया जा सकता । परन्तु हम इंट्रानेट को इंटरनेट की सहायता के बिना नहीं लागू कर सकते हैं ।
( v ) इंटरनेट (इंटरनेट kya hota hai) का प्रयोग करने वालो की संख्या इंट्रानेट प्रयोग करने वालों से बहुत अधिक होती है । अतः इंटरनेट से जुड़ा हार्डवेयर , इंट्रानेट के साथ जुड़े हार्डवयेर की तुलना में बहुत अधिक क्षमता वाला होता है । इसका अर्थ यह है कि इंटरनेट के माध्यम से हम सूचनाओं , विचारों का आदान - प्रदान विश्व में कहीं भी कर सकते हैं पर इंट्रानेट के माध्यम से यह आदान प्रदान कुछ सीमित क्षेत्र तक ही होता है ।

निवेदन :- अगर आपके लिए यह post थोडा भी useful रहा है तो इसे अपने friends के साथ Facebook, Instagram , telegram और whatsapp में share करिये और आपके subjects से related कोई प्रश्न हो तो नीचे comment में बताइये 
Thanks / धन्यवाद 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

window accessories kya hai

  आज हम  computer in hindi  मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)   -   Ms-windows tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)  :- Microsoft Windows  कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं ।  structure of window accessories:- Start → Program Accessories पर click Types of accessories in hindi:- ( 1 ) Entertainment :-   Windows Accessories  के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते है

applet in java in hindi

  आज हम  computers  in hindi   मे   applet in java in hindi  (java programming in hindi)  -   Internet tools in hindi  के बारे में  जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  Applet in java in hindi:- applet in java  के वे छोटे प्रोग्राम होते हैं जो इन्टरनेट प्रोग्रामिंग में काम में लिए जाते हैं । यह  applet  एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर पर भेजे जा सकते हैं , तथा फिर इन्हें किसी भी वेब ब्राउज़र या एप्लेट व्यूअर द्वारा रन कराया जा सकता है ।  एक  applet  किसी एप्लीकेशन प्रोग्राम की तरह कई कार्य कर सकता है , जैसे गणितिय गणनाएं करना , ग्राफिक्स प्रदर्शित करना , साउंड का प्रयोग करना , यूजर से इनपुट लेना आदि । life cycle applet in hindi :- 1. Born Or Initialization State  2. Running State  3. Idle State 4. Dead Or Destroyed State 1. Born Or Initialization State :- एक  applet  बोर्न स्टेट में तब आता है जब वह load होता है । किसी  applet  को लोड करने के लिए  applet  क्लास के init () मैथड का प्रयोग किया जाता है । आवश्यकता होने पर एप्लेट क्लास के init ( ) मैथड ओवरराईड किया जा सकता है -