सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

What is Magnetic Tape in hindi

internet connection in hindi

आज हम internet technology in hindi मे हम internet connection in hindi के बारे में जानकारी देते क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

internet connection in hindi:-

इंटरनेट के Network में विभिन्न प्रकार के एप्लीकेशन प्रोग्रामों को execute करने करने वाली अनेक मशीन ( कम्प्यूटर ) Inclusived होती हैं । इन कम्प्यूटरों को हम होस्ट कह सकते हैं । ये होस्ट एक communication subnet से जुड़े रहते हैं । एक होस्ट से दूसरे होस्ट तक message लाने ले जाने का कार्य subnet का होता है , telephone system इस कार्य को करवाती है । 
अधिकतर वाइड एरिया नेटवर्कों में subnet के दो भाग होते हैं - 
1. transmission lines
2. switching devices

1. Transmission lines :-

वाइड एरिया नेटवर्क के कम्प्यूटरों के मध्य डाटा की bits का convection करने वाले तार , केबल , सर्किट , या channels को transmission lines कहते हैं ।

2. Switching devices :-

 दो या दो से अधिक transmission lines को जोड़ने वाले specialized computers switching devices कहलाते हैं । जब किसी इनकमिंग लाइन पर डाटा पहुँचता है तो एलीमेन्ट , outgoing लाइन का चुनाव करती है । यह स्विचिंग युक्ति I. S. P. ( इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर ) का कम्प्यूटर होता है । इंटरनेट से जुड़ने के लिए सर्वप्रथम हमें I. S. P. ( इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर ) से user नेम और पासवर्ड लेने होते हैं । इन दोनों से ही हम टेलीफोन लाइन से जुड़े कम्प्यूटर से जुड़े कम्प्यूटर के द्वारा इंटरनेट में लॉगइन हो सकते हैं ।

इंटरनेट से जुड़ने के लिए टेलीफोन लाइन को कम्प्यूटर में लगे मॉडेम के सॉकट से जोड़ दिया जाता है । इसके बाद Start Menu में प्रदर्शित Connect To को सलेक्ट करते हैं इसके बाद प्रदर्शित submain में My Connection अथवा user द्वारा user name वाले option पर क्लिक करते हैं , जिससे स्क्रीन पर एक dialog boxe प्रदर्शित होता है इस dialog boxe में user name और password टाइप करके कनेक्ट पर क्लिक करते हैं । ऐसा करते ही इंटरनेट से जुड़ने की प्रक्रिया आरम्भ हो जाती है । यह प्रोग्राम कम्प्यूटर को I. S. P. सर्वर से जोड़ने को प्रयास करता है । कभी - कभी कनेक्शन जुड़ने में काफी समय लग जाता है । परन्तु ऐसा तभी होता है जब लाइनें busy होती हैं ।
यदि इंटरनेट कनेक्शन सही जुड़ गया है तो MS Internet Explorer प्रोग्राम start करते हैं और जिससे इंटरनेट से जुड़ी हुई होस्ट साईट खुल जाती है । यदि डीफॉल्ट में www.indiapost.gov.in की ई - पोस्ट वेब साइट users ने पहले ही determined कर रखी है तो इसकी वेब साइट खुल जाती है । जिसमें हम अब कार्य कर सकते हैं । इंटरनेट कनेक्ट होने पर विण्डोज के टास्क बार पर एक आइकन लगातार प्रदर्शित होता रहता है । कि इंटरनेट कनेक्शन जारी है । इस आइकन पर डबल क्लिक करने पर इंटरनेट कनेक्शन की गति और कनेक्ट होने के बाद spent time की calculation होती है जैसे एस . टी . डी . बूथ पर टेलीफॉन कॉल के समय की calculation करने वाला मीटर दिखता है । जिससे हम इंटरनेट पर कार्य करने की period time का assessment कर सकते हैं ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

window accessories kya hai

  आज हम  computer in hindi  मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)   -   Ms-windows tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)  :- Microsoft Windows  कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं ।  structure of window accessories:- Start → Program Accessories पर click Types of accessories in hindi:- ( 1 ) Entertainment :-   Windows Accessories  के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते है

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल