सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

operating system command

 आज हम computer course in hindi मे हम operating system command के बारे में बताएगें तो चलिए शुरु करते हैं-

operating system command(ऑपरेटिंग सिस्टम कमाण्ड्स):-

 यूजर , सिस्टम कॉल्स के अलावा ऑपरेटिंग सिस्टम में ऑपरेटिंग सिस्टम के कमाण्ड्स के द्वारा भी interact कर सकता है । यदि आप ( MS - DOS में किसी भी डाइरेक्ट्री के फाइलों या सब - डाइरेक्ट्रीज को देखना चाहते हैं , तो आप DIR कमाण्ड का invoke कर सकते हैं और ऑपरेटिंग सिस्टम अपने कमाण्ड्स द्वारा यूजर और कम्प्यूटर सिस्टम के हार्डवेयर के बीच communicate करता है । इस ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रमुख objective यूजर की समस्याओं का समाधान करना है , इसमें ज्यादातर ऑपरेटिंग सिस्टम्स के साथ common problems को हल करने के प्रोग्राम्स की supply की जाती है । इन प्रोग्राम्स के वेब ब्राउजर्स , टेक्स्ट फॉर्मेटर्स , वर्ड - प्रोसेसर्स , कम्पाइलर्स और डेटाबेस सिस्टम्स , स्प्रेडशीट्स इत्यादि आते है । ये प्रोग्राम सिस्टम यूटिलिटीज या एप्लीकेशन प्रोग्राम के नाम से भी जाने जाते हैं । इसमें कमाण्ड इंटरप्रेटर किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे system program होता है । Command Interpreter का प्रमुख कार्य भी यूजर द्वारा दिए गए कमाण्ड को accept कर execute करना होता है । 

लेकिन कुछ ऑपरेटिंग सिस्टम में Command Interpreter कमाण्ड्स को execute करने का कोड अपने आप में holding करता है और जबकि कुछ ऑपरेटिंग सिस्टम में कमाण्ड इन्टरप्रेटर दिए गए कमाण्ड को फाइल सिस्टम से खोज कर उसे मेमोरी में लोड करके कमाण्ड के साथ दिए गए पैरामीटर के साथ execute करता है । MS - DOS का कमाण्ड इन्टरप्रेटर , जो command.com है अनेकों कमाण्ड्स को एक्जक्यूट करने का कोड holding करता है । जैसे , यूजर द्वारा किसी फाइल को डिलीट करने के लिए दिया गया DEL कमाण्ड , कमाण्ड इंटरप्रेटर ( command.com ) द्वारा स्वीकार करके एक्जक्यूट भी किया जाता है । जबकि UNIX में यदि abc नामक फाइल को डिलीट करने के लिए rm abc कमाण्ड यूजर द्वारा दिया जाता है तो UNIX का कमाण्ड इंटरप्रेटर , rm नामक फाइल को फाइल सिस्टम से खोज कर इसे मेमोरी में लोड कर UNIX पैरामीटर के साथ execute करता है । अतः हम इस Conclusion पर पहुँचते हैं कि UNIX में किसी कमाण्ड की functionality अलग अलग फाइल में define की जाती है , न कि कमाण्ड इन्टरप्रेटर में।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Query Optimization in hindi - computers in hindi 

 आज  हम  computers  in hindi  मे query optimization in dbms ( क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन) के बारे में जानेगे क्या होता है और क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन (query optimization in dbms) मे query processing in dbms और query optimization in dbms in hindi और  Measures of Query Cost    के बारे मे जानेगे  तो चलिए शुरु करते हैं-  Query Optimization in dbms (क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन):- Optimization से मतलब है क्वैरी की cost को न्यूनतम करने से है । किसी क्वैरी की cost कई factors पर निर्भर करती है । query optimization के लिए optimizer का प्रयोग किया जाता है । क्वैरी ऑप्टीमाइज़र को क्वैरी के प्रत्येक operation की cos जानना जरूरी होता है । क्वैरी की cost को ज्ञात करना कठिन है । क्वैरी की cost कई parameters जैसे कि ऑपरेशन के लिए उपलब्ध memory , disk size आदि पर निर्भर करती है । query optimization के अन्दर क्वैरी की cost का मूल्यांकन ( evaluate ) करने का वह प्रभावी तरीका चुना जाता है जिसकी cost सबसे कम हो । अतः query optimization एक ऐसी प्रक्रिया है , जिसमें क्वैरी अर्थात् प्रश्न को हल करने का सबसे उपयुक्त तरीका चुना

What is Message Authentication Codes in hindi (MAC)

What is  Message Authentication Codes in hindi (MAC) :- Message Authentication Codes (MAC) , cryptography के सबसे attractive और complex areas में से एक message authentication और digital signature का area है। सभी क्रिप्टोग्राफ़िक फ़ंक्शंस और प्रोटॉल्स को समाप्त करना असंभव होगा, जिन्हें message authentication और digital signature के लिए executed किया गया है।  यह message authentication और digital signature के लिए आवश्यकताओं और काउंटर किए जाने वाले attacks के प्रकारों के introduction के साथ होता है। message authentication के लिए fundamental approach से संबंधित है जिसे Message Authentication Code (MAC)  के रूप में जाना जाता है।  इसके दो categories में MACs की होती है: क्रिप्टोग्राफिक हैश फ़ंक्शन से बनाई और ऑपरेशन के ब्लॉक सिफर मोड का उपयोग करके बनाए गए। इसके बाद, हम एक relatively recent के approach को देखते हैं जिसे Authenticated encryption के रूप में जाना जाता है। हम क्रिप्टोग्राफ़िक हैश फ़ंक्शंस और pseudo random number generation के लिए MCA के उपयोग को देखते हैं। message authentication ए