सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

software requirement in hindi

Relational model concepts in dbms in hindi - DBMS in hindi

 आज हम computers in hindi मे relational model concepts in dbms in hindi - DBMS in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

relational model concepts in dbms in hindi:-

Relation model डाटाबेस को Relations के group के रूप में presented करता है । जब एक Relations को value की table के जैसे समझा जाता है तो table में प्रत्येक row related डाटा वैल्यूज के Collection को presented करती है । Relation model में Schedule में every row एक fact को present करती है जो कि एक Real world entity या relationship के समान होती है । Formal Relation model Glossary में एक row , Tuple कहलाती है , एक Column header attribute कहलाता है और टेबल को Relations कहा जाता है । डाटा टाइप जो value के types को बताते हैं जो प्रत्येक कॉलम में दिखते हैं , डोमेन कहलाते हैं । एक Relation डाटाबेस के Universe को से display किया जाता है , एक Non Empty Finite Set Of Elements A1 , A2 , A3 , ....... An को Attribute Name or Simply Attribute कहते हैं। 

U = { A1, A2, A3 , ... An } ( Database as a Collection of Relations )

डोमेन / वैल्यू सेट ( Domain / Value Set ) :-

यह Atomic values का एक सेट है । यहाँ Atomic से मतलब वह प्रत्येक value है जो डोमेन में अलग है । इसको D से display किया जाता है।

Example:-

- डोमेन ( A ) = { 20,21 ... , 60 } ( if A ; = AGE ) 

सिंपल डोमेन ( Simple Domain ) : - 

एक डोमेन साधारण डोमेन होगा यदि इसके सारे एलीमेन्ट अलग है ।

रिलेशन स्कीमा ( Relation Schema ) : -

एक Relation Schema R , जो R ( A1 , A2 , ............... An ) द्वारा display होता है , Relation name R से बना होता है और इसमें एट्रीब्यूट की लिस्ट A1, A2 , ... ... ...An होती है । प्रत्येक डोमेन A , एक रोल का नाम है जो Relation Schema R मे डोमेन D द्वारा दिखाया जाता है । एक Relation Schema एक Relations को Described करने के लिए प्रयोग किया जाता है । R इस Relations का नाम कहलाता है । एक Relations की डिग्री इसके Relation Schema के Attribute की n संख्या है। 

Eexample - STUDENT ( Name , SSN , Home Phone , Address , Office Phone , Age , GPA)

STUDENT एक Relation का नाम है जिसके सात Attribute हैं । STUDENT Relations के कुछ Attribute के लिए डोमेन्स हैं 

dom ( Name ) = Names , dom ( SSN ) = Social_Security_Numbers , 

dom ( Home Phone ) = Local_Phone_Numbers

characteristics of relation:-

( 1 ) Tuple order in relation:- 

एक Relations को tuple के एक set के रूप में देखा जाता है । गणितीय रूप में एक सेट के Elements के बीच कोई order नहीं होता इसलिए एक Relations में tuple कोई विशेष क्रम में नहीं होती । 

( 2 ) The order of values ​​in tuples and the alternative definition of relationship:-

एक n- tuple n values की एक orders list है । Alternative definition में , एक Relation Schema R = { A , Az ......... .A . ) Attribute का एक set है और एक Relations r ( R ) mapings I = tt .............. } का एक Finite set है , जहाँ प्रत्येक टपल एक Mapping है । R से D तक का और D Attribute डोमेन का यूनियन है , जो कि 

D = dom ( A , ) u dom ( A , ) U ... .... dom ( A)

( 3 ) Values ​​in Tuples : - 

एक tuples में प्रत्येक value एक Atomic value होती है । यह छोटे - छोटे भागों में Divider नहीं होती । एक विशेष tuple में कुछ Attribute की value या तो Unknown होती है या उस tuples पर लागू नहीं होती , तो इस विशेष मान को NULL कहते हैं । 

( 4 ) Interpretation of relation : -

Relation Schema को Declaration की तरह या Essaron के प्रकार की तरह इंटरप्रेट किया जा सकता है ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

foxpro data type in hindi । फॉक्सप्रो

 आज हम computers in hindi मे फॉक्सप्रो क्या है?  Foxpro data type in hindi  कार्य के बारे मे जानेगे? How many data types are available in foxpro?    में  तो चलिए शुरु करते हैं-    How many data types are available in foxpro? ( फॉक्सप्रो में कितने डेटा प्रकार उपलब्ध हैं?):- FoxPro में बनाई गई डेटाबेस फाईल का एक्सटेन्शन नाम .dbf होता है । foxpro data type in hindi (फॉक्सप्रो डेटा प्रकार) :- Character data type Numeric data type Float data type Date data type Logical data type Memo data type General data type 1. Character data type :- Character data type  की फील्ड में अधिकतम 254 Character store किये जा सकते हैं । इस टाईप की फील्ड में अक्षर जैसे ( A , B , C , .......Z ) ( a , b , c , ...........z ) तथा इसके साथ ही न्यूमेरिक अंक ( 0-9 ) व Special Character ( + , - , / . x , ? , = ; etc ) आदि भी Store करवाए जा सकते हैं । इस प्रकार की फील्ड का प्रयोग नाम , पता , फोन नम्बर , शहर का नाम , पिता का नाम , माता का नाम आदि संग्रहित करने के लिए किया जाता है । 2. Numeric data type :- Numeric da

Management information system (MIS in hindi)

What is Management Information Systems (MIS) in hindi ? Introduction to management information system (MIS in hindi):-  बिजनेस प्रॉब्लम का समाधान प्राप्त करने के लिए युजर, तकनीक और प्रॉसीजर (procedure) एक साथ मिलकर  कार्य करते हैं। यूूूूजर तकनीक और प्रॉसीजर के सकलन को Information system  कहते हैं।   management information system definition :- जब इनफॉर्मेशन सिस्टम में निहित सभी भाग एक अनुशासन (Discipline) विधि से किसी बिजनेस प्रॉब्लम को हल करते हैं तो इस प्रक्रिया को Management information system ( MIS in hindi ) कहते हैं।   MIS कोई नवीन व्यवस्था नहीं है, कंप्यूटर के आगमन से पूर्व व्यवसाय की गतिविधियों का योजना निर्धारण और नियन्त्रण करने का कार्य इसी प्रकार की MIS विधि से ही सम्पन्न किया जाता था।  कंप्यूटर ने इस MIS व्यवस्था में नवीन आयामों  जैसे, गति (speed), शुद्धता (accuracy) और वृहद मात्रा में डेटा समापन को भी सम्मिलित कर दिया गया है। management, Information और system    को कंप्यूटर की सहायता से मिश्रित व्यावसायिक गतिविधियों को सम्पन्न किया जाता है।  किसी ऑर्गेनाइजेशन की ऑ