सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

macro in ms excel in hindi

privileges in dbms - Dbms in hindi

 आज हम computers in hindi मे आज हम computers in hindi मे privileges in dbms - dbms in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

Privileges in dbms (DBMS in hindi):-

privileges in dbms मे Oracle stored information को Unauthorized access व Intentional damage किये जाने के Against सुरक्षा देने के लिए Comprehensive Security Features available कराता है और यह सुरक्षा Different User  को उनका responsibilities के base पर अधिकार देकर उपलब्ध कराई जाती है और वह अधिकार जो Oracle के Resources के उपयोग की अनुमति देता है । Privilege कहलाते हैं । Oracle , डाटा एक्सेस को नियंत्रित करने के लिए create user , create role और grant Commands का भी उपयोग करता है । इसमे किसी User द्वारा Built किए गए objects उसी user द्वारा contral किए जाते हैं और उनकी Ownership भी उसी user के पास होता है और यदि कोई user किसी अन्य user के object तक एक्सेस करना चाहता हैं , तो object के owner को ऐसे एक्सेस के लिए Permission देना होगी । इसे Granting of privileges कहते हैं । इसमे एक बार Provide किए गए Privilege object के मालिक द्वारा वापस भी लिए जा सकते हैं , इसे Revoking of privileges कहते हैं।

Creating a user(privileges in dbms) :- 

Oracle SYSTEM , SYS और SCOTT के साथ आता है और जिसमें user पहले से ही निर्मित होता है । अन्य user निर्मित करने के लिए हम SYSTEM user पर log in करें , SYSTEM यूजर के बाद वह privilege होता है ।

 Syntax privileges in dbms :- 

GRANT { object privileges } ON objectname TO username [ WITH GRANT OPTION ] ;

Object Privileges ( privileges in dbms) :-

Object privileges मे Provide किया गया प्रत्येक Privilege grant या वह user जिसे Permission Provide की गई है object पर कुछ Operation performance करने के लिए Authorizes करता है और user या तो सारे privilege दे सकता है या केवल कुछ विशिष्ट object privilege प्रदान कर सकता है । object privilege की list इस प्रकार है - 
1. Alter : यह Grantee को ALTER TABLE कमांड के Through टेबल डेफिनेशन बदलने की premission देता है।
2. Delete : यह Grantee को DELETE की मदद से टेबल से रेकॉर्ड हटाने की premission देता है । 
3. Index : यह Grantee को CREATE INDEX कमांड की मदद से रेकॉर्ड हटाने की premission देता है । 
4. Insert : इसमे यह Grantee को INSERT command की मदद से टेबल में रेकार्ड एड करने की premission देता है । 
5. Select : यह Grantee को SELECT कमांड की मदद से टेबल क्वेरी करने की permission देता है ।
6. Update : यह UPDATE कमांड की मदद से ग्रांटि को टेबल के Record modify करने की premission देता है । 
7. With Grant option : यह ऑप्शन Grantee को अन्य यूजर्स को object privilege प्रदान करने की premission देता है । 
Examples ( 1 ) : GRANT ALL ON Teacher TO HOD ; 
Examples ( 2 ) : GRANT SEELCT , UPDATE , DELETE ON Student TO Faculty : 
Examples ( 3 ) : GRANT ALL ON Teacher TO Faculty WITH GRANT OPTION ; 
इसमे यहाँ HOD और Faculty यूजर हैं और student व teacher टेबल हैं । इसमे अन्य user के टेबल को Reference करने के लिए जब user को दूसरे user के object अथवाobjects को access करने का privilege मिल जाता है और तो user को मालिक के नाम से Prefix कर टेबल एक्सस कर सकता है । 
Examples : SELECT * FROM scott.student ;
Grant privileges when a grantee has been given the GRANT 

privileges in dbms:-

यदि user , अन्य users को privilege देना चाहता है , तो user object का Magic होना चाहिए अथवा उसे object के मालिक द्वारा Grantee option दिया हुआ होना चाहिए । 

privileges in dbms Examples:- 

GRNAT SELECT ON Scott.teacher TO HOD ; इसमे टेबल " स्टूडेंट " मूलत : user scott का है और जिसने हमको ऑब्जेक्ट " Teacher " पर privilege देने का privilege प्रदान कर रखा है । इसमे एक बार privilege देने पर REVOKE command का उपयोग कर इसे user से वापस भी लिया जा सकता है और object का मालिक दूसरे को दिए privilege वापस ले सकता है और एक user जो object का मालिक तो नहीं है , लेकिन उसे privilege प्रदान करने का privilege दिया है , इसके पास Grantee से privilege वापस लेने की शक्ति भी होती है।
Syntax privileges in dbms:-
REVOKE { object privileges } ON objectname FROM username 
Example : Revoke delete on student from faculty . 
इस REVOKE command का उपयोग उस object privilege को वापस लेने में किया जाता है और जो user को पूर्व में सीधे Reebok करने के लिए प्रदान किया गया है ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

foxpro data type in hindi । फॉक्सप्रो

 आज हम computers in hindi मे फॉक्सप्रो क्या है?  Foxpro data type in hindi  कार्य के बारे मे जानेगे? How many data types are available in foxpro?    में  तो चलिए शुरु करते हैं-    How many data types are available in foxpro? ( फॉक्सप्रो में कितने डेटा प्रकार उपलब्ध हैं?):- FoxPro में बनाई गई डेटाबेस फाईल का एक्सटेन्शन नाम .dbf होता है । foxpro data type in hindi (फॉक्सप्रो डेटा प्रकार) :- Character data type Numeric data type Float data type Date data type Logical data type Memo data type General data type 1. Character data type :- Character data type  की फील्ड में अधिकतम 254 Character store किये जा सकते हैं । इस टाईप की फील्ड में अक्षर जैसे ( A , B , C , .......Z ) ( a , b , c , ...........z ) तथा इसके साथ ही न्यूमेरिक अंक ( 0-9 ) व Special Character ( + , - , / . x , ? , = ; etc ) आदि भी Store करवाए जा सकते हैं । इस प्रकार की फील्ड का प्रयोग नाम , पता , फोन नम्बर , शहर का नाम , पिता का नाम , माता का नाम आदि संग्रहित करने के लिए किया जाता है । 2. Numeric data type :- Numeric da

Management information system (MIS in hindi)

What is Management Information Systems (MIS) in hindi ? Introduction to management information system (MIS in hindi):-  बिजनेस प्रॉब्लम का समाधान प्राप्त करने के लिए युजर, तकनीक और प्रॉसीजर (procedure) एक साथ मिलकर  कार्य करते हैं। यूूूूजर तकनीक और प्रॉसीजर के सकलन को Information system  कहते हैं।   management information system definition :- जब इनफॉर्मेशन सिस्टम में निहित सभी भाग एक अनुशासन (Discipline) विधि से किसी बिजनेस प्रॉब्लम को हल करते हैं तो इस प्रक्रिया को Management information system ( MIS in hindi ) कहते हैं।   MIS कोई नवीन व्यवस्था नहीं है, कंप्यूटर के आगमन से पूर्व व्यवसाय की गतिविधियों का योजना निर्धारण और नियन्त्रण करने का कार्य इसी प्रकार की MIS विधि से ही सम्पन्न किया जाता था।  कंप्यूटर ने इस MIS व्यवस्था में नवीन आयामों  जैसे, गति (speed), शुद्धता (accuracy) और वृहद मात्रा में डेटा समापन को भी सम्मिलित कर दिया गया है। management, Information और system    को कंप्यूटर की सहायता से मिश्रित व्यावसायिक गतिविधियों को सम्पन्न किया जाता है।  किसी ऑर्गेनाइजेशन की ऑ