सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

What is Magnetic Tape in hindi

computer glossary (कम्प्यूटर शब्दावली) "V"

आज हम computer in hindi मे हम computer glossary in hindi (कम्प्यूटर शब्दावली) के बारे में जानकारी देते क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-
Computer glossary "V"

Computer glossary in hindi (कम्प्यूटर शब्दावली) "V" :-

• VAB :-

आवाज के रूप में टेलीफोन पर उत्तर देने वाला एक उपकरण।

• VAL :-

रोबोट को निर्देश देने में प्रयुक्त भाषा । 

• VAX :-

Digital Equipment Corporation द्वारा विकसित एक ऑपरेटिंग प्रणाली , जिसका छोटे कम्प्यूटरों में प्रयोग किया जाता है ।

• VDL :-

प्रोग्रोमिंग भाषा के प्रयोग के नियमों का निर्धारित करने वाली यह भाषा 

• full form in VDT :-

Visual Display Terminal का पूरा नाम

• full form in VDU :-

Visual Display Unit का पूरा नाम

• full form in VGA :-

Video Graphics Array का पूरा नाम movie signs के प्रदर्शन के लिए एक Standard

• VISIC Program :-

defense related tasks में इस प्रोग्राम का प्रयोग किया जाता है । यह प्रोग्राम very high speed से circuit controlled करता है।

• VLDB :-

• full form in VRC:-

 Verticle Redundancy Check का पूरा नाम ।

• full form in VSAT :-

Very Small Spretuse Terminal का पूरा नाम

• full form in VTOC :-

Visual Table of Contents का पूरा नाम

 • full form in VTVM :-

इसका पूरा नाम वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर है । 

• full form in VS :-

वरचुअल स्टोरेज
-:Computer Glossary (कम्प्यूटर शब्दावली):-

• Vacuum Tube :-

electric current को यह उपकरण नियंत्रित करता है ।

• Validation:-

 डेटा की शुद्धता । 

• Value :-

किसी का मान ।

• Value - added Nework:-

 यह नेटवर्क सिस्टम अत्यन्त तीव्र गति से कार्य करने वाला है ।

• Variable :-

कोई मान निर्धारित करने वाले शब्द या अक्षर 

• Vector :-

अंकों की वह सूची , जो एक पंक्ति में लिखे गए हों । 

• Vector Display :-

सी.आर.टी. द्वारा मॉनीटर पर दिखाई दे रहे prepose में प्रयोग की गई तकनीक । 

• Vector Pair :-

एक दूसरे के विपरीत डेटा बिन्दु । 

• Vendee :-

कम्प्यूटर हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर खरीदने वाले व्यक्ति या संस्था को Vendee कहते हैं । 

• Vendor :-

वह व्यक्ति या संस्था , जो माल बेचती है ।

• Venu Diagram :-

गोलों की सहायता से बनाने वाला रेखाचित्र । 

• Verifier :-

डेटा एन्ट्री की गलतियों की जांच करने वाला उपकरण ।

• Verify :-

डेटा या प्रोग्राम की शुद्धता का सत्यापन करना । 

• full form in Veronica :-

वेरी इजी रोडेंट ओरिएंटेड नेटवाइड इंडेक्स टू कम्प्यूटर आर्ची

• Version :-

संस्करण । 

• Vertex :-

किसी कोण के दो हिस्सों के मिलने का स्थान किसी ग्राफ के उच्चतम तथा न्यूनतम बिन्दु । 

• Vertical Recording :-

डेटा रिकार्ड की इस तकनीक द्वारा टेप में बहुत बड़ी मात्रा में डेटा रिकार्ड किया जाता है । 

• Vertical Scrolling :-

मॉनीटर पर एक बार में एक पेज से अधिक डेटा ऊपर नीचे कर सकने की कम्प्यूटर की क्षमता । 
-:Computer Glossary (कम्प्यूटर शब्दावली):-

• Vetting :-

कम्प्यूटर को नुकसान पहुंचाने वाले व्यक्ति या कारणों की जांच के लिए प्रयत्न । 

• Videl :-

कम्प्यूटर पर प्राप्त समस्त सूचनाएं वाइडेल नामक इस उपकरण पर दिखाई देती हैं । 

• Video Digitizer:-

 वीडियो कैमरे के संकेत को डिजिटल संकेत में बदलकर कम्प्यूटर में भेजने वाला इनपुट डिवाइस । 

• Video Disk :-

वीडियो कैसेट का एक नाम 

• Video Game:-

 कम्प्यूटर चिप द्वारा संचालित गेम । इन्हें मॉनीटर या टी.वी. दोनों पर खेल सकते हैं । 

• Video Monitor:-

 यह उपकरण कम्प्यूटर का मुख्य अंश होता है जिस पर कम्प्यूटर में आई समस्त सूचनाएं दिखाई देती हैं । 

• Videotex:-

 घर बैठे इलेक्ट्रानिक सूचनाएं प्राप्त की जा सकने वाली तकनीक । 

• Vidicon :-

फोटो को इलेक्ट्रानिक संकेत में बदलने वाली टी.वी. कैमरे में लगी ट्यूब

• View :-

डेटा प्रस्तुत करने वाला perpose । 

• View Data :-

डेटा को मॉनीटर पर देखना । 

• Virus :-

एक ऐसा सॉफ्टवेयर प्रोग्राम जो ऑपरेटिंग प्रणाली एवं डाटा फाइलों को अपना शिकार बनाता है और उन्हें प्रभावित करता है । 

• Visicale:-

 लोटस की तरह का एक सॉफ्टवेयर ।

• Vision Recognition:-

 कम्प्यूटर द्वारा इमेज प्रोसेसिंग करने की एक विधि ।

• Visual Display :-

मॉनीटर पर डेटा का visual display । 

• Visual Scanner :-

आप्टिकल स्कैनर को Visual Scanner कहते हैं ।

• Vocabulary:-

 प्रोग्रामिंग में इन password या निर्देश का प्रयोग किया जाता है ।
-:Computer Glossary (कम्प्यूटर शब्दावली):-

• Voder :-

आवाज समझने वाला एक उपकरण ।

• Voice:-

 एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर में आवाज का विस्थापन ।

• Voice Grade:-

 टेली कम्युनिकेशन लाइनों द्वारा कम्प्यूटर से कम्प्यूटर को जोड़ने हेतु डेटा ले जाने की गति या क्षमता । 

• Voice Input :-

डेटा का आवाज के रूप में इनपुट करना ।

• Voice Output :-

कम्प्यूटर द्वारा आवाज के रूप में मिलने वाला परिणाम ।

• Voice Recognition :-

एक अत्यंत नई तकनीक जिसमें हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर मनुष्य की आवाज को पहचानते हैं । 

• Voice Recognition System:-

आवाज को डेटा के रूप में परिवर्तित करने वाला कम्प्यूटर सिस्टम ।

• Voice Response :-

आवाज के रूप में कम्प्यूटर का परिणाम सुनना ।

• Voice Synthesis :-

इस क्षमता युक्त कम्प्यूटर मेमोरी में आवाज को जमा करके उसे शब्दों में बदल देता है । 

• Volatile File :-

डेटा डिलीट करने का या नया डेटा जोड़ने का कार्य इस फाइल में अत्यंत तीव्र गति से संपन्न होता है । 

• Volatile Storage :-

वह स्टोरेज माध्यम जिसमें electric current बंद होते ही डाटा भी समाप्त हो जाता है । 

• Volume Table of Contents :-

एप्पल ( Apple ) डिस्क ऑपरेटिंग प्रणाली में हार्ड डिस्क के लिए एक फाइल आबंटित करने वाली सारणी । 

• Volatility :-

फाइल प्रोसेसिंग होते समय रिकार्ड के जुड़ जाने एवं डिलीट होने का प्रतिशत । 

• Voltage :-

विद्युत प्रवाह का दबाव Voltage कहलाता है ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ms excel functions in hindi

  आज हम  computer in hindi  मे ms excel functions in hindi(एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है)   -   Ms-excel tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- ms excel functions in hindi (एमएस एक्सेल में फंक्शन क्या है):- वर्कशीट में लिखी हुई संख्याओं पर फॉर्मूलों की सहायता से विभिन्न प्रकार की गणनाएँ की जा सकती हैं , जैसे — जोड़ना , घटाना , गुणा करना , भाग देना आदि । Function Excel में पहले से तैयार ऐसे फॉर्मूले हैं जिनकी सहायता से हम जटिल व लम्बी गणनाएँ आसानी से कर सकते हैं । Cell Reference में हमने यह समझा था कि फॉर्मूलों में हम जिन cells को काम में लेना चाहते हैं उनमें लिखी वास्तविक संख्या की जगह सरलता के लिए हम उन सैलों के Address की रेन्ज का उपयोग करते हैं । अत : सैल एड्रेस की रेन्ज के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक होता है । सैल एड्रेस से आशय सैल के एक समूह या श्रृंखला से है । यदि हम किसी गणना के लिए B1 से लेकर  F1  सैल को काम में लेना चाहते हैं तो इसके लिए हम सैल B1 , C1 , D1 , E1 व FI को टाइप करें या इसे सैल Address की श्रेणी के रूप में B1:F1 टाइ

window accessories kya hai

  आज हम  computer in hindi  मे window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)   -   Ms-windows tutorial in hindi   के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- window accessories kya hai (एसेसरीज क्या है)  :- Microsoft Windows  कुछ विशेष कार्यों के लिए छोटे - छोटे प्रोग्राम प्रदान करता है इन्हें विण्डो एप्लेट्स ( Window Applets ) कहा जाता है । उनमें से कुछ प्रोग्राम उन ( Gadgets ) गेजेट्स की तरह के हो सकते हैं जिन्हें हम अपनी टेबल पर रखे हुए रहते हैं । कुछ प्रोग्राम पूर्ण अनुप्रयोग प्रोग्रामों का सीमित संस्करण होते हैं । Windows में ये प्रोग्राम Accessories Group में से प्राप्त किये जा सकते हैं । Accessories में उपलब्ध मुख्य प्रोग्रामों को काम में लेकर हम अत्यन्त महत्त्वपूर्ण कार्यों को सम्पन्न कर सकते हैं ।  structure of window accessories:- Start → Program Accessories पर click Types of accessories in hindi:- ( 1 ) Entertainment :-   Windows Accessories  के Entertainment Group Media Player , Sound Recorder , CD Player a Windows Media Player आदि प्रोग्राम्स उपलब्ध होते है

report in ms access in hindi - रिपोर्ट क्या है

  आज हम  computers in hindi  मे  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है)  - ms access in hindi  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-  report in ms access in hindi (रिपोर्ट क्या है):- Create Reportin MS - Access - MS - Access database Table के आँकड़ों को प्रिन्ट कराने के लिए उत्तम तरीका होता है , जिसे Report कहते हैं । प्रिन्ट निकालने से पहले हम उसका प्रिव्यू भी देख सकते हैं ।  MS - Access में बनने वाली रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएँ :- 1. रिपोर्ट के लिए कई प्रकार के डिजाइन प्रयुक्त किए जाते हैं ।  2. हैडर - फुटर प्रत्येक Page के लिए बनते हैं ।  3. User स्वयं रिपोर्ट को Design करना चाहे तो डिजाइन रिपोर्ट नामक विकल्प है ।  4. पेपर साइज और Page Setting की अच्छी सुविधा मिलती है ।  5. रिपोर्ट को प्रिन्ट करने से पहले उसका प्रिन्ट प्रिव्यू देख सकते हैं ।  6. रिपोर्ट को तैयार करने में एक से अधिक टेबलों का प्रयोग किया जा सकता है ।  7. रिपोर्ट को सेव भी किया जा सकता है अत : बनाई गई रिपोर्ट को बाद में भी काम में ले सकते हैं ।  8. रिपोर्ट बन जाने के बाद उसका डिजाइन बदल