सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

macro in ms excel in hindi

object oriented database in hindi

 आज हम computers in hindi मे object oriented database in hindi- dbms in hindi के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं-

object oriented database in hindi:-

object oriented database इसमे रिलेशनल डाटा मॉडल की कमियों और सीमाओं पर काबू पाने के लिए Modifiers ने नए मॉडल का आविष्कार किया और जिसे ऑब्जेक्ट ओरियेंटेड डाटाबेस Target oriented database कहा गया है । यह Target oriented programming pattern पर आधारित है । OOM डाटाबेस सिस्टम को कम्प्यूटर एडेड डिजाईन ( CAD ) , कम्प्यूटर एडेड सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग ( CASE ) और ऑफिस इंफॉर्मेशन सिस्टम ( OIS ) तथा Hypertext data bases तथा अन्य एप्लीकेशन्स जैसे एप्लीकेशन्स की Wide range के प्रति हमे अनुकूल बना देता है । इसमे प्रोग्रामिंग के प्रति Target approach सबसे पहले लेंग्वेज Simula 67 में useकिया गया था । इसे Programming simulation के लिए डिजाईन किया गया था और जनरल एप्लीकेशन के लिए Smaltalk शुरूआती Object oriented programming languages में से थी । आज C ++ तथा Java , C # सर्वाधिक उपयोग में आने वाली Object oriented programming languages हैं ।
यह traditional database applications Banking और Payroll management जैसे Data processing task के बने होते हैं और ऐसे एप्लीकेशन्स के डाटा टाईप Conceptual form से बहुत आसान होते हैं । मूलभूत Data Item Records हैं , जो काफी छोटे हैं और उनके Fields atomic हैं और इसका अर्थ है कि इन्हें और आगे स्ट्रक्चर नहीं किया गया है और पहला नॉर्मल फॉर्म ही बना रहता है । यह हाल के वर्षों में अधिक जटिल डाटा टाईप से निपटने के तरीकों की मांग बढ़ी है । 

Examples object oriented database in hindi:-

object oriented database management system examples 1:- एड्रेसेस ही लें । जहाँ संपूर्ण एड्रेस को टाईप स्ट्रींग के Atomic data items के व्यू के रूप में लिया जा सकता है और वहीं यह व्यू स्ट्रीट एड्रेस , सिटी , स्टेट और पोस्टल कोड जैसे data को छिपा देगा , जो क्वेरीज के interest का हो सकता है । दूसरी तरफ यदि एड्रेस को छोटे कंपोनेंट्स स्ट्रीट एड्रेस , व सिटी , स्टेट और पोस्टल कोड में तोड़कर display किया जाए , तो क्वेरी लिखना बहुत जटिल हो जाएगा , क्योंकि उसमें प्रत्येक फील्ड का उल्लेख करना होगा । इसका Basic options स्ट्रक्चर्ड डाटा टाईप की अनुमति देना है और जो एक टाईप एड्रेस की अनुमति देता है , जिसमें स्ट्रीट एड्रेस , सिटी , स्टेट और पोस्टल कोड के उपभाग भी होते हैं । 
object oriented database management system examples 2:- E - R मॉडल में से Multivalued attribute पर विचार करें । ऐसे attributes फोन नंबर पर Feedback जैसे उदाहरणों के लिए Natural है , क्योंकि लोगों के एक से अधिक फोन नंबर होते हैं और नया रिलेशन निर्मित करके Normalization (in hindi) का विकल्प इस उदाहरण के लिए महंगा और कृत्रिम होता है।
object oriented database management system examples 3:- इलेक्ट्रॉनिक सर्किट के लिए कम्प्यूटर एडेड डिजाईन डाटाबेस का विचार करें और एक सर्किट विभिन्न प्रकार के कई Ports का उपयोग करता है । इन Ports को अन्य Ports को रेफर करना पड़ता है , जिनसे ये जुड़े होते हैं । एक ही टाईप के सारे Ports के गुण समान होते हैं और यदि हम डिजाईन के प्रत्येक पार्ट को Port टाईप के इंसटंस के रूप में व्यू कर सकें और प्रत्येक इंसटंस को यूनिक Identifier दें , तो डाटाबेस में सर्किट की मॉडलिंग अधिक आसान होगी । इसमे सर्किट के Ports फिर अन्य Ports को उनके unick Identifier के द्वारा रेफर भी कर सकते हैं ।
यदि कोई इंजीनियर संपूर्ण सर्किट की बिजली की खपत का पता लगाना चाहता है , तो इसे करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि प्रत्येक Ports को एक ऐसे ऑब्जेक्ट के रूप में view करें , जो फंक्शन powerusage ( ) उपलब्ध करा रहा है , जो यह बताता है कि Port कितनी बिजली का उपयोग कर रहा है और वह फंक्शन जो Overall power usage की गणना करता है , हमे उसे Port के Internals के बारे में कुछ जानने की आवश्यकता नहीं है , इसे सिर्फ प्रत्येक पॉर्ट पर powerusage ( ) Invoke करने और Results को जोड़ने की आवश्यकता होती है ।





टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

foxpro commands in hindi

आज हम computers in hindi मे  foxpro commands  क्या होता है उसके कार्य के बारे मे जानेगे?   foxpro all commands in hindi  में  तो चलिए शुरु करते हैं-   foxpro commands in hindi:-  (1) Clear command in foxpro in hindi:-  इस  command  का प्रयोग  foxpro  की main स्क्रीन ( जहां रिकॉर्ड्स / Output प्रदर्शित होते हैं ) को Clear करने के लिए किया जाता है ।  (2) Modify Structure in foxpro in hindi :-  इस  command  का प्रयोग वर्तमान प्रयुक्त  डेटाबेस  फाईल के स्ट्रक्चर में आवश्यक परिवर्तन करने के लिए किया जाता है । इसके द्वारा नये फील्ड भी जोड़े जा सकते हैं तथा पुराने फील्ड्स को हटाया व उनके साईज़ में भी परिवर्तन किया जा सकता है ।  (3) Rename in foxpro in hindi :-  इस  command  के द्वारा किसी  database  file का नाम बदला जा सकता है जिस फाईल को Rename करना हो वह मैमोरी में खुली नहीं होनी चाहिए ।   Syntax : Rename < Old filename > to < New filename >  Foxpro example: -  Rename Student.dbf to St.dbf (4) Copy file in foxpro in hindi :- इस command के द्वारा किसी एक डेटाबेस फाईल के रिकॉ

foxpro data type in hindi । फॉक्सप्रो

 आज हम computers in hindi मे फॉक्सप्रो क्या है?  Foxpro data type in hindi  कार्य के बारे मे जानेगे? How many data types are available in foxpro?    में  तो चलिए शुरु करते हैं-    How many data types are available in foxpro? ( फॉक्सप्रो में कितने डेटा प्रकार उपलब्ध हैं?):- FoxPro में बनाई गई डेटाबेस फाईल का एक्सटेन्शन नाम .dbf होता है । foxpro data type in hindi (फॉक्सप्रो डेटा प्रकार) :- Character data type Numeric data type Float data type Date data type Logical data type Memo data type General data type 1. Character data type :- Character data type  की फील्ड में अधिकतम 254 Character store किये जा सकते हैं । इस टाईप की फील्ड में अक्षर जैसे ( A , B , C , .......Z ) ( a , b , c , ...........z ) तथा इसके साथ ही न्यूमेरिक अंक ( 0-9 ) व Special Character ( + , - , / . x , ? , = ; etc ) आदि भी Store करवाए जा सकते हैं । इस प्रकार की फील्ड का प्रयोग नाम , पता , फोन नम्बर , शहर का नाम , पिता का नाम , माता का नाम आदि संग्रहित करने के लिए किया जाता है । 2. Numeric data type :- Numeric da

Management information system (MIS in hindi)

What is Management Information Systems (MIS) in hindi ? Introduction to management information system (MIS in hindi):-  बिजनेस प्रॉब्लम का समाधान प्राप्त करने के लिए युजर, तकनीक और प्रॉसीजर (procedure) एक साथ मिलकर  कार्य करते हैं। यूूूूजर तकनीक और प्रॉसीजर के सकलन को Information system  कहते हैं।   management information system definition :- जब इनफॉर्मेशन सिस्टम में निहित सभी भाग एक अनुशासन (Discipline) विधि से किसी बिजनेस प्रॉब्लम को हल करते हैं तो इस प्रक्रिया को Management information system ( MIS in hindi ) कहते हैं।   MIS कोई नवीन व्यवस्था नहीं है, कंप्यूटर के आगमन से पूर्व व्यवसाय की गतिविधियों का योजना निर्धारण और नियन्त्रण करने का कार्य इसी प्रकार की MIS विधि से ही सम्पन्न किया जाता था।  कंप्यूटर ने इस MIS व्यवस्था में नवीन आयामों  जैसे, गति (speed), शुद्धता (accuracy) और वृहद मात्रा में डेटा समापन को भी सम्मिलित कर दिया गया है। management, Information और system    को कंप्यूटर की सहायता से मिश्रित व्यावसायिक गतिविधियों को सम्पन्न किया जाता है।  किसी ऑर्गेनाइजेशन की ऑ