सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

मार्च, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Featured Post

macro in ms excel in hindi

windows NT in hindi - computers in hindi

  आज  हम  computers  in hindi मे windows NT ( विण्डोज़ एन.टी.)  के बारे में जानकारी देगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं- windows NT in hindi (विण्डोज़ एन.टी.):- windows NT  एक प्रकार का नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम होता है । windows NT को सितम्बर 1993 में माइक्रोसॉफ्ट नामक कम्पनी ने विकसित किया था । windows NT को मॉड्यूलर ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में डिज़ाईन किया गया है जो कि लेयर आर्किटेक्चर का अनुसरण करता है । यह एक ग्राफिकल यूज़र इन्टरफेस  ऑपरेटिंग सिस्टम है जो कि user को कार्य करने के लिए ग्राफिकल इन्टरफेस प्रदान करता है तथा इसके साथ ही यह centralized storage भी प्रदान करता है । इस ऑपरेटिंग सिस्टम में मल्टीटास्किंग तथा मल्टीप्रोसेसिंग की सुविधा भी दी जाती है । यह फाईल सिस्टम के लिए NTFS को सपोर्ट करता है तथा यह क्लाईंट व सर्वर दोनों को ही सपोर्ट करता है।   Network Operating System ( NOS ) नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम :- कम्प्यूटर नेटवर्क्स को सही structure देने में नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम का महत्वपूर्ण योगदान रहा है । नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम , सॉफ्टवेयर व उससे सम्बन्ध रखने वाले प्र

what is server in hindi ? : सर्वर

आज  हम  computers  in hindi मे   server in hindi (सर्वर क्या होता है?) और Types of server के बारे में जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- what is server in hindi (सर्वर क्या होता है?):- नेटवर्क   में मुख्य कम्प्यूटर को सर्वर कहा जाता है क्योंकि यह नेटवर्क में जुड़े अन्य कम्प्यूटर्स ( Clients ) को उनकी आवश्यकता के अनुसार डेटा व सेवाएँ प्रदान करता है । मुख्य कम्प्यूटर अपने समस्त क्लाईंट्स को services प्रदान करता है इसलिए इसे सर्वर कहा जाता है । किसी सामान्य अथवा छोटे नेटवर्क में सर्वर एक ही होता है , किन्तु क्लाइन्ट एक से अधिक हो सकते हैं ।  Types of server in hindi (सर्वर के प्रकार):- सर्वर को मुख्यतः दो प्रकार से विभाजित किया गया है । 1. On the basis of Utilization 2. On the basis of size (1)  On the basis of Utilization:- 1. Application Server in hindi :- इस सर्वर का प्रयोग नेटवर्क पर उपस्थित सभी एप्लीकेशन सॉफ्टवेेयर को एक ही स्थान पर store करने के लिए किया जाता है । तथा उस एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को नेटवर्क में सर्वर के द्वारा रने करवाया जा सकता है । नेटवर्क में क

Query Optimization in hindi - computers in hindi 

 आज  हम  computers  in hindi  मे query optimization in dbms ( क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन) के बारे में जानेगे क्या होता है और क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन (query optimization in dbms) मे query processing in dbms और query optimization in dbms in hindi और  Measures of Query Cost    के बारे मे जानेगे  तो चलिए शुरु करते हैं-  Query Optimization in dbms (क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन):- Optimization से मतलब है क्वैरी की cost को न्यूनतम करने से है । किसी क्वैरी की cost कई factors पर निर्भर करती है । query optimization के लिए optimizer का प्रयोग किया जाता है । क्वैरी ऑप्टीमाइज़र को क्वैरी के प्रत्येक operation की cos जानना जरूरी होता है । क्वैरी की cost को ज्ञात करना कठिन है । क्वैरी की cost कई parameters जैसे कि ऑपरेशन के लिए उपलब्ध memory , disk size आदि पर निर्भर करती है । query optimization के अन्दर क्वैरी की cost का मूल्यांकन ( evaluate ) करने का वह प्रभावी तरीका चुना जाता है जिसकी cost सबसे कम हो । अतः query optimization एक ऐसी प्रक्रिया है , जिसमें क्वैरी अर्थात् प्रश्न को हल करने का सबसे उपयुक्त तरीका चुना

acid properties in dbms - computers in hindi

 आज हम computers in hindi के अन्दर Properties of Transaction (acid properties in dbms) के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- Properties of Transaction ( कार्यसम्पादन के गुण ) (ACID in hindi) :- Atomicity , Consistency , Isolation , Durability - ACID सामान्यत : किसी transaction की 4 प्रॉपर्टीज़ होती हैं-  1. Atomicity  2. Consistency  3. Isolation  4. Durability  1. Atomicity transaction :-   Atomicity transaction की प्रॉपर्टी के द्वारा यह comfirm किया जाता है की transaction   के द्वारा किए जाने वाले सभी ऑपरेशन पूर्ण होंगे या उनमें से एक भी execute नहीं होगा । इसमें transaction के प्रत्येक ऑपरेशन को एक अकेली यूनिट की भांति व्यवहार किया जाता है । आइए इसे एक example की सहायता से समझते हैं। acid properties with example :-  यदि प्रथम ऑपरेशन सफल पूर्ण हो जाए तथा द्वितीय ऑपरेशन पर आते ही transaction असफल अर्थात् फेल हो जाए तो ऐसी स्थिति में प्रथम ऑपरेशन भी rollback हो जाएगा । Atomicity को transaction manager के द्वारा नियंत्रित किया जाता है । transaction manager डेटाबेस

trigger in dbms : ट्रिगर

 आज हम computers  in hindi मे trigger in dbms (ट्रिगर क्या है)  के बारे मे जानेगे और इसके types of triggers व trigger example  के बारे मे तो चलिए शुरु करते हैं- what is the meaning of triggered in hindi ( ट्रिगर क्या है ):- डेटाबेस ट्रिगर सामान्य भाषा में event किसी घटना को कहा जाता है , डेटाबेस में event से मतलब किसी घटना से है जो डेटाबेस से जुड़ी हो , मतलब डेटाबेस पर किसी कमाण्ड का रन होना event है ।  ट्रिगर ऐसी प्रोग्रामिंग इकाई है जो कि किसी टेबल के लिए किसी डेटाबेस event पर स्वतः ही रन हो जाते हैं इसलिए इन्हें event activated program units ( ईवेट सक्रिय प्रोग्राम इकाई ) कहा जाता है । ट्रिगर्स में सभी प्रकार के DML कमाण्ड्स दिए जा सकते हैं । प्रत्येक ट्रिगर का नाम schema उस के लिए यूनीक होना चाहिए , अर्थात् ट्रिगर का नाम दोहराया जाना नहीं चाहिए । एक ट्रिगर को एक ही टेबल के लिए बनाया जा सकता है , एक से अधिक टेबल्स के लिए ट्रिगर बनाने हों तो उन्हें अलग - अलग बनाया जाएगा ।  किसी डेटाबेस ऑब्जेक्ट को बनाने वाला user ( प्रयोगकर्ता ) स्वयं के ऑब्जेक्ट के लिए ट्रिगर बना सकता है । इ

Foxpro commands in hindi - foxpro in hindi

Types of Foxpro commands to view records:- 1. Display command 2. List command 3. Browse command 1. Display command:- यह कमाण्ड वर्तमान में प्रयुक्त डेटाबेस फाईल के वर्तमान रिकॉर्ड ( Current Record ) को प्रदर्शित करता है । यदि इसके साथ ALL की - वर्ड का प्रयोग किया जाए तो यह वर्तमान प्रयुक्त डेटाबेस फाईल के समस्त रिकॉर्ड्स को स्क्रीन पर प्रदर्शित करेगा । यदि किसी विशेष रिकॉर्ड नम्बर के रिकॉर्ड को स्क्रीन पर प्रदर्शित करना हो तो इसके लिए Record की - वर्ड का प्रयोग किया जाता है ।  चुनिन्दा रिकॉर्ड्स को प्रदर्शित करने के लिए For का प्रयोग किया जाता है :  उदाहरण 1 : - वर्तमान रिकॉर्ड प्रदर्शित करने हेतु DISPLAY  उदाहरण 2 : - रिकॉर्ड नम्बर आठ को प्रदर्शित कीजिए DISPLAY RECORD 8  उदाहरण 3 : - सभी रिकॉर्ड्स को प्रदर्शित करने हेतु DISPLAY ALL  उदाहरण 4 : - उन विद्यार्थियों के रिकॉर्ड्स को प्रदर्शित कीजिए जिनकी आयु 18 वर्ष या उससे अधिक हो DISPLAY ALL FOR AGE > = 18  उदाहरण 5 : - वर्तमान रिकॉर्ड्स के पश्चात् के समस्त रिकॉर्ड्स को प्रदर्शित कीजिए  DISPLAY REST  उदाहरण 6 : - वर्तमान रिकॉड तथा उसक