सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

फ़रवरी, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Featured Post

OSI मॉडल क्या है?-what is OSI model

OSI मॉडल क्या है?(what is OSI model in hindi):- आज हम सीखेंगे  OSI मॉडल क्या है? (What is OSI model in hindi)  OSI मॉडल परतों का स्पष्टीकरण (OSI Model Layers Explanation) ,ओएसआई मॉडल परतों और इसके कार्यों (OSI Model Layers and its Functions) क्या होते हैं। OSI मॉडल :- (Open System Interconnection Model) इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर स्टैंडर्ड स्टैंडरार्इजेशन (International organisation for standarization) ने एक सेट सेट प्रकाशित किया जो डिवाइसेज (Devices) को जोड़ने के लिए नेटवर्क आर्किटेक्चर का वर्णन करता है। इसका उपयोग नेटवर्क और नेटवर्क एप्लीकेशन (Network application) को बताने के लिए किया जा सकता है। इसके पश्चात OSI ने इस मॉडल का एक रिवीजन (Revision) प्रकाशित किया जिसे ओपन सिस्टम इंटर कनेक्शन रेफरेंस मॉडल (Open System Interconnection reference model कहा गया। निर्माता कंपनियों द्वारा अपने अपने नेटवर्क उत्पादों को डिजाइन करते समय OSI रेफरेंस मॉडल का अनुपालन किया जाता है। OSI रेफरेंस मॉडल यह विवरण  देता है  की  कम्युनिकेशन (Communication) को  संभव  बनाने  के लिए किस तरह हार्डवेयर

नेटवर्क टोपोलॉजी क्या हैं और उसके कितने प्रकार हैं - what is network topology

टोपोलॉजी क्या होती हैं?(what is topology) :-  टोपोलॉजी नेटवर्क की आकृति या लेआउट को कहा जाता है | नेटवर्क के विभिन्न नोड किस प्रकार एक दुसरे से जुड़े होते है तथा कैसे एक दुसरे के साथ कम्युनिकेशन स्थापित करते है, उस नेटवर्क को टोपोलॉजी ही निर्धारित करता है टोपोलॉजी फिजिकल या लौजिकल होता है| Computers को आपस में जोडने एवं उसमें डाटा Flow की विधि टोपोलाॅजी कहलाती है। वास्तव में टोपोलॉजी का मतलब  नेटवर्किंग  में  नेटवर्क को  डिजाइन (Design) करना । टोपोलॉजी किसी नेटवर्क में कम्प्यूटर के ज्यामिति व्यवस्था (Geometric arrangement) को कहते है | नेटवर्क टोपोलॉजी क्या हैं ? (What is network topology):- किसी भी नेटवर्क की टोपोलॉजी से तात्पर्य है उसमें केबल्स (cables) कंप्यूटर्स और पेेरीफेरल्स डिवाइस (peripherals devices) का कॉन्फ़िगरेशन करना। या हम कह सकते हैं की नेटवर्क में कंप्यूटरों , तारो  और अन्य कंपोनेंट्स (components) के फिजिकल लेआउट (physical layout) से होता है। टोपोलॉजी नेटवर्क बनाने का  एक आधार भी है। किसी नेटवर्क की टोपोलॉजी उस नेटवर्क की क्षमताओ (Capabilities) को प्रभावित करती ह

what is FDMA (frequency division multiple access)

what is FDMA (frequency division multiple access) :-  FDMA का पूरा नाम फ्रीक्वेंसी डिवीज़न मल्टीप्ल एक्सेस है. यह cellular system के लिए एक multiple access techniques है जिसमें फ्रीक्वेंसी को विभाजित किया जाता है. इसमें लिंक की उपलब्ध bandwidth को विभिन्न नोड्स (स्टेशन) के मध्य फ्रीक्वेंसी बैंड्स के रूप में विभाजित किया जाता है. इसमें प्रत्येक स्टेशन को डेटा भेजने के लिए एक बैंड एलोकेट किया जाता है तथा प्रत्येक बैंड हमेशा एक स्टेशन के लिए रिज़र्व रहता है. इसमें प्रत्येक स्टेशन की ट्रांसमीटर फ्रीक्वेंसी को सिमित रखने के लिए एक बैंडपास फ़िल्टर का उपयोग किया जाता है। FDMA में एक स्टेशन से दुसरे स्टेशन के मध्य overlapping से बचने के लिए allocated बैंड्स के मध्य एक छोटा बैंड जिसे गार्ड बैंड कहते है स्थापित किया जाता है। FDMA  का प्रयोग AMPS (Advanced Mobile Phone Service) में किया जाता है। इस तकनीक के अंतर्गत स्थानांतरित (transfer) होने वाले डाटा समान  फ्रिकवेंसी या अलग फ्रिकवेंसी पर स्थानांतरित (transfer) होता है । यदि डाटा पूरे समय एक ही फ्रीक्वेंसी का अनुसरण करताहै तो उ