सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

फ़रवरी, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Featured Post

software requirement in hindi

codd's rule in rdbms in hindi - रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम

 आज हम  रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम ( rdbms in hindi)     के अन्दर codd's rule in rdbms in hindi के  ef codd 12 rules के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैंं:- codd's rule in rdbms in hindi:- 0. Relational Capability :- इस नियम के अनुसार डेटाबेस में इतनी क्षमता होनी चाहिए कि वह अपने आप को manage कर सके अर्थात् वह स्वयं की देखरेख कर सके । एक  रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम ( rdbms in hindi)     में अपने डेटाबेस में संग्रहित डेटा / सूचना की देखरेख व उन्हें नियंत्रित करने के लिए अपनी रिलेश्नल क्षमताओं का उपयोग करने की क्षमता होनी चाहिए । डेटाबेस में यह सुविधा होनी चाहिए कि हम उससे क्वैरी कर सकें ।  यदि कोई डेटाबेस इस नियम को पास कर लेता है तभी उसे आगे के 12 नियमों के लिए जांचने योग्य समझा जाता है । 1. Information Rule :- इस नियम के according एक  रिलेशनल डेटाबेस में सूचना (information ) हमेशा एक ही format में की जानी चाहिए और वह format  table format है । अर्थात् सूचना या डेटा का प्रवेश ( insertion ) भी  table format में होना चाहिए तथा  retrieve भी इसी format

Temporal Database

  आज हम Temporal database   के बारे मे जानेगे क्या होता है ये और कितने प्रकार के होते हैं तो चलिए शुरु करते हैं  Temporal Database (अस्थायी डेटाबेस ):- सामान्यतः डेटाबेस वर्तमान सूचना को ही संग्रहित ( store ) करते हैं past state की सूचनाओं को संग्रहित ( store ) नहीं करते हैं । जब विश्व की current  अवस्था बदलती है , डेटाबेस को भी बदला ( update किया ) जाता है , और पुरानी सूचनाएं नष्ट हो जाती हैं । इसके बावजूद कई एप्लीकेशन्स में इन पिछली सूचनाओं को संग्रहित ( store ) करना आवश्यक हो जाता है ।  उदाहरण के लिए किसी अस्पताल के डेटाबेस में पुराने मरीजों से सम्बन्धि जानकारी भी संग्रहित की जाती है । किसी विद्यालय , महाविद्यालय या विश्वविद्यालय के डेटाबेस में वार्षिक क्रम में पुराने विद्यार्थियों की जानकारी व उनके परीक्षा परिणामों की जानकारी भी संग्रहित की जाती है । अतः ऐसे डेटाबेस जो समय के अनुसार वास्तविक जगत की सूचनाओं को संग्रहित करते हैं वे temporal database कहलाते हैं । टैम्पोरल डेटाबेस में समय के दो पैरामीटर्स का उपयोग किया जाता है  1 . सिस्टम के द्वारा मापा गया समय व  2. वास्तविक जगत में

Data mining in hindi | डाटा माइनिंग क्या है?

 आज हम  डाटा माइनिंग क्या है? (Data mining in hindi) और data mining techniques ( डाटा माइनिंग)  के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- What is data mining in hindi ( डाटा माइनिंग क्या है?) :- बहुत बड़े डेटाबेस में से किसी उपयोगी सूचना को ढूंढना ही डाटा माइनिंग कहलाता है । अन्य शब्दों में यह कहा जा सकता है कि किसी  प्रकार  की सूचना की डेटाबेस में से खोज करना ही  डाटा माइनिंग  है । इसके लिए सांख्यिकी , कम्प्यूटर ग्राफिक्स , आर्टिफिशल इन्टैलीजेन्स आदि तकनीकों का  Use  किया जाता है , जिससे चाही गई नवीन प्रकार की सूचना को तीव्र गति से डेटाबेस में से ढूंढकर user को  प्रदर्शित किया जा सके ।  Introduction to data mining ( डाटा माइनिंग):- इस तकनीक में user जिस सूचना को डेटाबेस में से ढूंढना चाहता है वह सूचना डाटा माइनिंग के द्वारा ढूंढकर user को उपलब्ध कराई जाती है । इसके द्वारा किसी परिस्थिति की व्याख्या , विशलेषण , विशिष्ट परिकल्पनाओं के पुष्टिकरण के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की जा सकती है । इस प्रकार की जानकारी डेटाबेस के आधार पर ही दी जाती है , परन्तु इस प्रकार की ज

Data warehouse | डेटा वेयरहाउस

 आज हम Data warehouse in hindi और  data warehouse architecture in hindi के बारे में जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- डेटा वेयरहाउस (What is Data warehouse):- definition of data warehouse in hindi:- डेटा वेयरहाउस का अर्थ सूचनाओं का संग्रहण है जो कि किसी संस्था के लिए किए जाने वाले कार्यों में भूमिका निभाता है । इसकी भूमिका निर्णय लेने की होती है । इसमें सूचनाओं को संग्रहित करने के साथ - साथ आवश्यकता पड़ने पर उन्हें निकाला भी जा सकता है , यह भी एक महत्वपूर्ण कार्य है । डेटाबेस मैनेजमेन्ट सिस्टम के अन्तर्गत डेटाबेस को स्टोर करना डेटा वेयरहाउस (Data warehouse in hindi) कहलाता है। data warehousing in hindi:- डेटा वेयरहाउस को विशेष प्रकार से तैयार किया जाता है ताकि user को जिस जानकारी की आवश्यकता है वह उसे आसानी से पहचान सके । एक डेटा वेयरहाउस में रिलेशनल डेटा तथा डेटाबेस का बहुत बड़ा collection उपस्थित होता है । यह collection डेटा प्रबन्धन ( management ) में मुख्य भूमिका निभाता है । नेटवर्किंग के द्वारा यह उस संस्था के सभी कम्प्यूटर्स से जुड़ा होता है ताकि user किसी भी कम्प्यू

External sorting algorithm | External sorting in hindi

 आज हम  Relational database management system  ( RDBMS)    में  external sorting algorithm और external sorting example  के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- External sorting algorithm:- Sorting से तात्पर्य किसी निश्चित फील्ड की वैल्यू के अनुसार डेटाबेस फाईल के सारे रिकॉर्ड्स को एक निश्चित क्रम में जमाना है। यह क्रम आरोही (ascending) या अवरोही (descending) हो सकता है । सॉर्टिंग दो प्रकार की होती है , प्रथम आन्तरिक सॉर्टिंग तथा द्वितीय बाह्य सॉर्टिंग । जो डेटाबेस फाईलें मुख्य मैमोरी अर्थात् आन्तरिक मैमोरी में जाती हैं अर्थात् छोटी होती हैं , ऐसी फाईलों आन्तरिक मैमोरी में ही सॉर्ट किया जाता है इस प्रकार की सॉर्टिंग को आन्तरिक सॉर्टिंग कहा जाता है । ऐसी डेटाबेस फाईलें जो आन्तरिक मैमोरी में समा नहीं सकती हैं उन्हें बाह्य मैमोरी की सहायता से सॉर्ट किया जाता है , इस प्रकार की सॉर्टिंग को बाह्य सॉर्टिंग (external sorting)  कहा जाता है । क्वैरी प्रोसेसिंग अर्थात् क्वैरी की प्रक्रिया के अन्दर सॉर्टिंग की एल्गोरिथ्य एक प्रमुख भूमिका निभाती है । क्वैरी प्रोसेसिंग के अन्तर्गत प्

Oracle transaction | RDBMS in hindi - transaction

 आज हम  RDBMS in hindi - transaction in hindi के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं :- Transaction in hindi (कार्यसम्पादन):- डेटाबेस में डेटा से सम्बन्धित कई प्रकार के कार्य किए जाते हैं , उन कार्यों को transact ( सम्पादित ) करना ही transaction  ( कार्यसम्पादन ) कहलाता है । एक ट्रांजेक्शन के अन्तर्गत डेटा को पढ़ना तथा किसी सूचना को संग्रहित करना दोनों प्रकार के कार्य किए जा सकते हैं ।  एक ट्रांजेक्शन तभी पूर्ण या समाप्त माना जाता है जब उसे commit या rollback दे दिया जाए । यह दो सफल commits के मध्य निष्पादित किए जाने वाले कार्यों की एक logical unit ( तार्किक इकाई ) है ।  जब भी कोई ट्रांजेक्शन प्रारम्भ होता है तो डेटाबेस inconsistent ( असंगत ) स्थिति में आ है । inconsistent  ( असंगत ) स्थिति के अन्तर्गत एक ही प्रकार के समूह की एक से अधिक वैल्यूज़ के लिए एक से अधिक संख्या में परिणाम दिया जाता है । एक ही डेटाबेस से एक ही समूह की सूचनाओं को एक से अधिक जाता प्रयोगकर्ताओं के द्वारा access करना client server तकनीक की एक महत्वपूर्ण गतिविधि है । किसी ट्रांजेक्शन का प्रारम्भ प्राय

Set operator | operator meaning in hindi

 आज हम  set operations in dbms  के बारे मे जानेगे और इसकी keys के बारे में जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैंं :- set operations in dbms in hindi:- डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS)    के अन्दर  set operator अथवा set operator theory का प्रयोग multipal object के मध्य अर्थात् tables के मध्य rela tion बनाने के लिए किया जाता है ।  Multipal tables के मध्य relations बनाने के लिये कुछ नियमों का उपयोग किया जाता है । उन नियमों को set theory तथा इसमें use होने वाले विभिन्न operators को set operators कहा जाता है। Set Theory में use होने वाले विभिन्न elements हैं:- Domain , Attribute , Tupple , Unique Identifier PK , Degree , Relation Tupples : -  प्रत्येक Tupple का एक identifire होता है । यह identifire एक values होती है । जो Unique होती है । सामान्यतः tupple record को कहा जाता है जो कि विभिन्न values का collection होता है , एक table में 0 या उससे अधिक tupples हो सकती है ।  Relation in hindi : -  एक Relation tupples , attributes , Unique indintifieres . व Data values का collection होता ह

conditional statement in hindi | conditional statement examples

 आज हम conditional statement in hindi और conditional statement examples के बारे में जानेगे क्या होता है conditional statement in hindi तो चलिए शुरु करते हैं:- conditional statement in hindi:- कभी - कभी ऐसे प्रोग्राम भी बनाए जाते हैं जिनमें आउटपुट दो प्रकार का होता है । यह आउटपुट किसी कंडीशन पर निर्भर करता है । कंडीशन के सही या : गलत होने पर आउटपुट अलग - अलग होते हैं । कंडीशन के सही होने पर सही वाले ब्लॉक का आउटपुट प्रदर्शित होगा , वही कंडीशन के गलत होने पर गलत वाले ब्लॉक का आउटपुट प्रदर्शित होगा ।  types of conditional statement:- ( i ) if statement in c in hindi  ( ii ) Do case  (i) if statement in hindi: - यह एक conditional statement   है । इसके अन्तर्गत एक या एक से अधिक कंडीशन्स को लिखा जा सकता है । एक ही स्टेटमेन्ट में एक से अधिक कंडीशन्स के लिए लॉजिकल ऑपरेटर्स का प्रयोग किया जाता है । एक या दो प्रकार की कंडीशन्स के लिए if ....... else ....... end if का प्रयोग किया जाता है तथा अलग - अलग प्रकार की कंडीशन्स को nested if के द्वारा लिखा जा सकता है । nested if में if के अन्दर एक और i

Relational Algebra in hindi | Relational Algebra in dbms in hindi

 आज हम  What is Relational Algebra in Hindi and Unary and binary Relational Operations in DBMS के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- What is Relational Algebra in dbms in hindi:- इसके द्वारा हम queries को lower level पर प्रस्तुत करते हैं। यह प्रस्तुतिकरण queries evaluation तथा querry optimizer के द्वारा समझी जाती है । सामान्यतः को represent करने के लिए अंग्रेजी भाषा के शब्दों का use करते हैं । किन्तु relational algebra के अन्दर query को प्रस्तुत करने के लिये कुछ special symbol का use किया जाता है ।  SQL केवल Relational Algebra पर आधारित है । Relation Algebra के अन्तर्गत operator दो प्रकार के operators होते हैं ।  ( 1 ) Uneary in hindi ( 2 ) Binary   in hindi  ( 1 ) Uneary in hindi :- ( a ) It require only one relation ( table ) ( b ) example  (i) select (ii) predicate (where clause) (iii) Rename (Alias) (2) Binary in hindi:- (a) are those that require relations  (i) Union  (U) (ii) Intersect  (∩) (iii) Minus  (iv) Divion  (v) Inner Join  (vi) Outer Join         

E-R MODEL IN HINDI । ENTITY RELATIONSHIP MODEL । E-R DIAGRAM IN HINDI

 आज हम ENTITY RELATIONSHIP MODEL के बारे मे जानेगे क्या होता है ये और इसके  E-R DIAGRAM IN HINDI के बारे मे भी जानेगे तो चलिए शुरु करते हैं:- E-R model in hindi (एंटिटी रिलेशनशिप मॉडल):- ERD ( Entity Relationship Diagram ) के द्वारा हम यह प्रदर्शित करते हैं कि एक या एक से अधिक Entities आपस में किस प्रकार Related होती हैं । वास्तव में यह database का डिजाइनिंग टूल है जिसके द्वारा डेटाबेस के स्ट्रक्चर को ग्राफिकल रूप में प्रस्तुत किया जा सकता है । इसमें विभिन्न entities , attributes व relations का समूह होता है । ERD को SAD ( System analysis and design ) के अन्तर्गत Software development cycle के अन्तर्गत तैयार किया जाता है । ERD एक तरह से सम्पूर्ण डेटाबेस का Blue print अर्थात् एक मॉडल होता है । Client के लिए नये  डेटाबेस  बनाने के लिये Developers ERD का Use करते हैं । इसे Normalization के द्वारा Follow किया जाता है | Normalization एक प्रक्रिया है जिसके अन्तर्गत जटिल ( Complex ) object model को बिना किसी Data हानि के आसान ( Simple ) data object model में बदला जाता है। ERD के ती

Data Integrity in DBMS । DBMS Data Integrity in HINDI 

 आज हम Database Integrity और types of Database Integrity के बारे मे जानेगे क्या होती है तो चलिए शुरु करते हैं  Database integrity:- Data Base Integrity से अभिप्राय कुछ ऐसे नियमों से है जो कि Data Base के attribute के लिये होते हैं । Database Integrity चार प्रकार से apply की जा सकती है , जिन्हें चार प्रकार की Integrity भी कहा जाता है।  1. Domain Integrity  2. Entity Integrity  3. Referential Integrity  4. User defined Integrity 1. Domain Integrity in hindi (डोमेन इन्टीग्रिटी):- Domain Integrity in hindi प्रकार की Integrity में डेटा की वैल्यू कॉलम में दिये गये साईज़ के अनुसार ही होनी चाहिए । ऐसा नहीं हो कि कॉलम का का साईज़ तो कम है परन्तु हम उसमें डेटा अधिक मात्रा में संग्रहित कर रहे हैं । यह integrity  कॉलम से डेटाटाइप पर भी निर्भर करती है । इसके द्वारा यह भी तय किया जाता है कि किसी कॉलम का डेटाटाइप जो है उसमें उसी प्रकार की वैल्यू संग्रहित की जाये । जैसे की इंटीजर वाले कॉलम में इंटीजर वैल्यू तथा कैरेक्टर वाले कॉलम में कैरेक्टर वैल्यू ही संग्रहित हो । यदि value व Column का data type

file system vs dbms in hindi । Differences between

 आज हम file management system (FMS) in hindi और डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS in hindi) के बारे मे थोडा जानेगे और file system vs dbms in hindi (Differences between file management system (FMS) and database management systems (DBMS in hindi) के बारे मे जानेगे क्या होता है तो चलिए शुरु करते हैं:- File management system in hindi:- आम तौर पर हमें कम्प्यूटर में जो भी Data लिखना होता है वह किसी ना किसी रूप में एक file में store होता है । इन फाइलों के managment system को file managment system कहते हैं ।  इन फाइलों को जब पुनः open किया जाता है तो इनमें store ( सम्पूर्ण डेटा ) डेटा हमारे समक्ष प्रदर्शित हो जाता है । यदि हमें सम्पूर्ण Data के बजाय Data का वह भाग या सूचना जो किसी विशेष condition को पूरा करती हों यदि ऐसी सूचना प्रयोगकर्ता को चाहिए तो FMS उसे उपलब्ध नहीं करा सकता , क्योंकि वह file managment system के द्वारा छांटी नहीं जा सकती । Data base management system in hindi (DBMS in hindi):- स्टोर किये गये Data में से यदि हमें किसी विशेष कंडीशन को पूरा करने वाला Data चाहिए तो यह file man